पहले पत्नी और बेटी को दिया जहर और फिर खुद लगाई फांसी

मेरठ। उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले के शास्त्रीनगर सेक्टर-6 में अपराध का एक ऐसा मामला सामने आया है जिसे पढ़ने के बाद आपकी रूह कांप जाएगी। मेरठ के इस इलाके में बुधवार देर रात एक व्यापारी ने अपनी पत्नी और बेटी को जहर देकर मौत के घाट उतार दिया। इतना ही नहीं पत्नी और बेटी को मौत की गोद में सुलाने के बाद व्य़ापारी ने खुद भी फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

शास्त्रीनगर सेक्टर छह में एमपीजीएस से सटी बिल्डिंग की तीसरी मंजिल पर व्यापारी योगेश वर्मा अपनी पत्नी बरखा वर्मा और बेटी सनाया वर्मा के साथ किराए पर रहता था। योगेश का स्कूल और फैंसी ड्रेस का एंपोरियम है। बुधवार देर रात योगेश का एक रिश्तेदार उनके फ्लैट पर पहुंचा और दरवाजा खटखटाया। अंदर से कोई आवाज नहीं आने पर रिश्तेदार ने योगेश के भाई हरीश वर्मा को फोन किया। थोड़ी देर में हरीश और उनका बेटा संयम वहां पहुंचे। तीनों ने मिलकर घर का दरवाजा तोड़ा तो अंदर का मंजर देखकर दहल गए। बरखा और सनाया का शव बेड पर पड़ा था और योगेश का शव पंखे पर लटका हुआ था।

इस घटना के बाद पूरे इलाके में सनसनी फैल गई है। वहीं, हादसे की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजकर मामले की छानबीन शुरू कर दी है। इस घटना के बारे में जानकारी देते हुए इंस्पेक्टर नौचंदी एसके राणा ने बताया कि मौके से व्यापारी के पास से पुलिस को एक सुसाइड नोट बरामद हुआ है, सुसाइड नोटयोगेश ने परिवार की मौत का जिम्मेदार खुद को बताया। पुलिस ने इस घटना का कारण योगेश का एक महिला से अवैध संबंध था।

पुलिस के अनुसार योगेश का अच्छा-खासा परिवार था। उसका व्यापार भी अच्छा चल रहा था। योगेश के एक युवती से अवैध संबंधों को लेकर परिवार में अक्सर झगड़ा होता रहता था। इसी बात को लेकर योगेश ने इस घटना को अंजाम दिया। जबकि योगेश के भाई हरीश का कहना है कि योगेश अपनी बेटी सनाया से बहुत प्यार करता था। वह अपनी बेटी को जहर कैसे दे सकता है, यह बात गले नहीं उतर रही। पुलिस के अनुसार, प्रथम दृष्टया पता चला है कि चाय में मां-बेटी को योगेश ने जहर पिलाया। फिलहाल जांच के बाद ही किसी नतीजे पर पहुंचा जाएगा।