संतों ने नितिन गड़करी को दी बधाई
संतों ने नितिन गड़करी को दी बधाई

लखनऊ। अयोध्या से शुरू होकर अवध प्रान्त के कई जिलों से होकर गुजरने वाला 84 कोसी परिक्रमा मार्ग को राष्ट्रीय राजमार्ग का दर्जा प्रदान किया गया है। केन्द्र सरकार के इस निर्णय के लिए अयोध्या के संतों ने केन्द्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गड़करी को बधाई दी है। केन्द्रीय मंत्री नितिन गड़करी ने ट्वीट के जरिए जानकारी देते हुए बताया कि अयोध्या में करीब 80 किलोमीटर की रिंग रोड और करीब 275 किलोमीटर का चौरासी परिक्रमा मार्ग राष्ट्रीय राजमार्ग बनेगा। अयोध्या जनपद से शुरू होने वाली 84 कोसी परिक्रमा अम्बेडकरनगर, बाराबंकी,गोण्डा और बस्ती जनपद से होकर गुजरती है। यात्रा मार्ग की स्थिति काफी खराब है। राजमार्ग घोषित हो जाने से श्रद्धालु आसानी से परिक्रमा कर सकेंगे।

84 कोसी परिक्रमा की शुरूआत चैत्र मास की पूर्णिमा से होती है। चौरासी कोसी परिक्रमा की शुरूआत अयोध्या से 15 किलोमीटर दूर मखौड़ा धाम से होती है। मान्यता है कि इसी स्थान पर महाराज दशरथ ने पुत्रेष्ठि यज्ञ किया था।
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट कर कहा है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मार्गदर्शन और नेतृत्व में 84 कोसी परिक्रमा मार्ग को राष्ट्रीय राजमार्ग घोषित करने के लिए अधिसूचना जारी होना अयोध्या के पुरातन गौरव की पुनस्र्थापना के लिए बढ़ाया गया बड़ा कदम है। इससे आध्यात्मिक पर्यटन क्षेत्र को संबल प्रदान करेगा।

अयोध्या की सांस्कृतिक एवं पौराणिक परिधि का होगा विकास
उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने ट्वीट कर कहा कि अयोध्या के 84 कोसी परिक्रमा मार्ग केे राष्ट्रीय राजमार्ग घोषित होने से अयोध्या की सांस्कृतिक एवं पौराणिक परिधि का विकास होगा। इसके निर्माण होने से रामभक्त फोरलेन मार्ग से यात्रा कर सकेंगे।
राम जन्मभूमि की पुजारी आचार्य सत्येन्द्र दास ने कहा है कि इसके लिए हम प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केन्द्रीय मंत्री नितिन गड़करी के प्रति कृतज्ञता अर्पित करते हैं। इससे अयोध्या ही नहीं अपितु आसपास के जनपदों की जनता गौरवान्वित हुई है।

सरकार के रोक के बावजूद विहिप ने निकाली थी 84 कोसी परिक्रमा
वर्ष 2013 में सपा सरकार के दौरान विश्व हिन्दू परिषद ने बड़े स्तर पर 84 कोसी परिक्रमा निकालने की घोषणा की थी। यात्रा शुरू करने से पूर्व विश्व परिषद के अध्यक्ष अशोक सिंहल के नेतृत्व में संतों का प्रतिनिधिमण्डल मुख्यमंत्री आवास अखिलेश यादव से मिलने भी गया था। अखिलेश यादव ने यात्रा की अनुमति भी दी थी लेकिन बाद में सरकार ने यात्रा निकालने पर पाबंदी लगा दी थी। इसके बावजूद विश्व हिन्दू परिषद ने 84 कोसी परिक्रमा यात्रा निकाली थी। यात्रा पर लगी रोक के बावजूद परिक्रमा करने पर सरकार ने करीब दो हजार लोगों को गिरफ्तार भी किया था।

बस कुछ दिन और… फिर कोरोना फ्री हो जायेगा उत्तर प्रदेश!, यहां देखें पूरा अपडेट

Previous article

Nora Fatehi हर बार ढ़हाती हैं क़हर, फिर हुआ डांस वीडियो वायरल

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured