featured दुनिया देश

‘कोविशील्ड’ वैक्सीन को 9 यूरोपीय देशों ने दी मान्यता, ग्रीन पासपोर्ट में किया शामिल

कोरोना

कोविशिल्ड वैक्सीन की दोनों डोज़ लगवा चुके लोग, जो इन देशों में सफर करना चाहते हैं उनके लिये ये खबर अच्छी है। दरअसल यूरोपीय संघ के 8 देशों और स्विट्जरलैंड ने कोविशील्ड वैक्सीन को मान्यता दे दी है।

कोविशील्ड वैक्सीन ग्रीन पासपोर्ट में शामिल

जी हां 8 यूरोपीय संघ के देशों ऑस्ट्रिया,ग्रीस, स्पेन, स्लोवेनिया, आइसलैंड, जर्मनी, आयरलैंड और एस्टोनिया के अलावा स्विट्जरलैंड ने सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया की कोविशील्ड वैक्सीन को ग्रीन पासपोर्ट में शामिल किया है। इसके साथ ही भारत में कोविशील्ड वैक्सीन की दोनों डोज लगा चुके लोग अब इन देशों में जा सकते हैं।

क्‍वारंटीन अनिवार्य किया जाएगा!

बता दें इससे पहले भारत ने यूरोपीय संघ के सदस्य देशों से कोविशील्ड और कोवैक्सीन को ग्रीन पास स्‍कीम में शामिल करने को कहा था। साथ ही सरकार ने EU से कहा कि इन दोनों वैक्‍सीन को मंजूर करें, या फिर वहां के नागरिकों के भारत आने पर उनके लिए क्‍वारंटीन अनिवार्य किया जाएगा।

भारत अपनाएगा अदला-बदली की नीति

सूत्रों के मुताबिक भारत ने EU के सदस्य देशों से कहा कि भारत अदला-बदली की नीति अपनाएगा, और ‘ग्रीन पास’ रखने वाले यूरोपीय नागरिकों को अपने देश में अनिवार्य क्‍वारंटीन से छूट देगा। हालांकि शर्त ये है कि उसकी कोविशील्ड और कोवैक्सीन को मान्यता देने के अनुरोध को स्वीकार किया जाए। भारत ने EU से अनुरोध किया कि कोविन पोर्टल के माध्यम से जारी वैक्‍सीनेशन सर्टिफिकेट को स्वीकार किया जाए।

27 सदस्य राष्ट्रों से अनुरोध

जिसके चलते यूरोपीय संघ ने ग्रीन पास योजना के तहत यात्रा पाबंदियों में ढील दी है। वहीं भारत ने समूह के 27 सदस्य राष्ट्रों से अनुरोध किया है कि कोवैक्सीन और कोविशील्ड के टीके लगवा चुके भारतीयों को यूरोप की यात्रा करने की अनुमति देने पर वो विचार करें।

Related posts

आजादी के लिए RSS और BJP के नेताओं के ‘घर के एक कुत्ते’ ने भी अपना बलिदान नहीं दिया- खड़गे

rituraj

जल मोबाइल एप के माध्यम से पता चलेगी खराब हैंडपंप की लोकेशन, प्रयागराज में हुआ लांच

Aditya Mishra

Congress Protest: कांग्रेस का महंगाई, बेरोजगारी पर प्रदर्शन आज, राहुल गांधी बोले- मोदी सरकार ने 8 साल में लोकतंत्र को किया बर्बाद

Nitin Gupta