Breaking News featured यूपी

उत्तर प्रदेश में 50,000 सरकारी नौकरियों का खुलेगा द्वार, जल्द ही होगा ऐलान

मथुरा: 14 फरवरी को वृंदावन धाम जाएंगे योगी आदित्यनाथ

लखनऊ: उत्तर प्रदेश सरकार नौकरी को अपनी पहली प्राथमिकता देती हुई दिखाई दे रही है। लगातार प्रशासन और अलग-अलग विभाग नौकरियों की अधिसूचना जारी कर रहे हैं। इसी क्रम में 50000 सरकारी नौकरियों का ऐलान जल्द ही हो सकता है।

यूपीएसएसएससी के माध्यम से होगी भर्ती

युवाओं के लिए अधीनस्थ सेवा चयन आयोग फिर से बड़ा मौका लेकर आ सकता है। आयोग से प्राप्त जानकारी इसी का संकेत दे रही है। अलग अलग विभाग जैसे परिवार कल्याण, राजस्व परिषद, कृषि निदेशालय, गन्ना एवं चीनी विभाग, स्वास्थ्य विभाग एवं वन विभाग जैसे क्षेत्रों में नौकरी के अवसर मिल सकते हैं। इससे जुड़ी अधिक जानकारी आधिकारिक वेबसाइट http://upsssc.gov.in पर उपलब्ध होगी।

इन पदों पर हो सकती है भर्ती

नौकरी के इच्छुक सभी अभ्यर्थियों के लिए कई ऐसे पद हैं, जो उन्हें नौकरी उपलब्ध करवा सकते हैं। खबरों के अनुसार परिवार कल्याण विभाग में 9212 पद महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं के भरे जाएंगे। वहीं राजस्व लेखपाल के 7882 पदों पर राजस्व परिषद में मौका मिलेगा।

jobs उत्तर प्रदेश में 50,000 सरकारी नौकरियों का खुलेगा द्वार, जल्द ही होगा ऐलान

इसके अलावा कृषि निदेशालय में प्राविधिक सहायक ग्रुप सी में भी 1817 पद खाली हैं। राजस्व विभाग में ही कनिष्ठ सहायक के तौर पर 1137 लोगों को भर्ती किया जाएगा। वनरक्षक के तौर पर 694 अभ्यर्थी, अनुदेशक के तौर पर प्रशिक्षण एवं सेवायोजना विभाग में 622 लोग, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य में 1100 भर्ती होने की संभावना है।

100 प्रश्न और नेगेटिव मार्किंग

इस भर्ती परीक्षा में कुल 100 प्रश्न पूछे जाएंगे। जिसमें अभ्यर्थियों की तार्किक शक्ति, सामान्य ज्ञान, हिंदी, अंग्रेजी, गणित जैसे विषयों पर आकलन होगा। इसके साथ ही परीक्षा में नेगेटिव मार्किंग भी रहेगी।

इसी साल भरे जाएंगे पद

प्रदेश सरकार समूह ग के लिए 50 हजार सरकारी नौकरियां उपलब्ध करवा रही है। यह सभी पद इसी वर्ष भरे जाएंगे। जिसका नोटिफिकेशन जल्द जारी कर दिया जाएगा। परीक्षा अप्रैल-मई में हो सकती है। इसके बाद आगे की प्रक्रिया विभाग के माध्यम से शुरू होगी। एक अनुमान के अनुसार इस भर्ती में लगभग 30 लाख युवा अपनी किस्मत आजमा सकते हैं।

Related posts

पृथ्वी-2 मिसाइल का हुआ सफल प्रायोगिक परीक्षण

Srishti vishwakarma

केंद्र सरकार की हेल्थ स्कीम को लागू नहीं करेगी पश्चिम बंगाल सरकार: ममता

Vijay Shrer

‘नेहरू की नीति से तौबा, रूस से तोड़े रिश्ता’, जानें क्यों भारत को धमका रहा अमेरिका

Rahul