जम्मू-कश्मीरः सेना ने पुलवामा में 3 आतंकियों को किया ढेर, एक नागरिक की गोली लगने से मौत

रमजान सीजफायर खत्म होने के बाद चल रहे सेना के लगातार ऑपरेशन में शुक्रवार को पुलवामा में सेना ने 3 आतंकियों को घेर लिया था।शुक्रवार सुबह भी कुपवाड़ा में सेना और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुई थी।ऑपरेशन में सेना ने एक आतंकी को मार गिराया।

 

जानकारी मिली थी कि पुलवामा में 2-3 आतंकी छिपे हुए हैं

पूरा मामला आपको बता दें सेना को शुक्रवार दोपहर जानकारी मिली थी कि पुलवामा में 2-3 आतंकी छिपे हुए हैं। इसके बाद सेना ने यहां सर्च ऑपरेशन चलाया। इसी बीच आतंकी एक घर में जाकर छिप गए। सेना और पुलिस के जवानों ने उन्‍हें घेर कर मुठभेड़ शुरू कर दी।जानकारी के अनुसार  आतंकियों ने घर में कुछ आम लोगों को बंधक बनाकर रखा था।सुरक्षाबलों ने लोगों को निकालने की कोशिश कि गौरतलब है कि ऑपरेशन 55RR और जम्मू-कश्मीर पुलिस संयुक्त रूप से चला रहे हैं।

सर्जिकल स्ट्राइकः प्लान करने वाले ऑफिसर का बयान कहा फैसला पूरी तरह से राजनीतिक

ऑपरेशन में सेना ने एक आतंकी को मार गिराया

इससे पहले शुक्रवार को ही कुपवाड़ा में सेना और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुई थी। इस ऑपरेशन में सेना ने एक आतंकी को मार गिराया। और ऑपरेशन कुपवाड़ा के त्रेहग्राम इलाके में हुआ था। ऑपरेशन सुबह करीब 5.30 बजे से शुरू किया था। आपको बता दें कि अमरनाथ यात्रा के चलते सुरक्षा एजेंसियां पूरब तत्परता के साथ तैनात हैं।

आतंकवाद से निपटने के लिए सुरक्षा एजेंसिया तीन आयामों पर काम कर रही है

जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद से निपटने के लिए सुरक्षा एजेंसिया तीन आयामों पर काम कर रही है। एक तरफ ऑपरेशन ऑल आउट से आतंकबादियो का सफाया कर रहीं हैं। ओर दूसरी वहीं एनआईए और ईडी बड़े स्‍तर पर सीमा पार से आने फंडिंग स्रोतो को को रोकने के लिए काम कर रही है।

हुर्रियत नेता प्रवर्तन निदेशालय के मुकदमे और एनआईए की जांच में फंसते नजर आ रहे हैं

आतंक के सौदागरों  पर लगाम लगाने के लिए हुर्रियत नेताओं पर भी शिकंजा कसा जा रहा है। गौरतलब है कि हुर्रियत नेता प्रवर्तन निदेशालय के मुकदमे और एनआईए की जांच में फसते नजर आ रहे हैं।

महेश कुमार यदुवंशी