फतेहपुर में पहले दिन 2750 मतदानकर्मियों को किया गया प्रशिक्षित

फतेहपुर: त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण ढंग से कराने के लिए शहर के एक निजी कॉलेज में सोमवार को पहले दिन 2750 मतदानकर्मियों को प्रशिक्षित किया गया।

जिले में आज 2800 कर्मियों को प्रशिक्षण दिया जाना था, लेकिन इस दौरान 50 मतदानकर्मी अनुपस्थिति रहे। जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी अपूर्वा दुबे के निर्देशन में सभी 2750 मतदानकर्मियों को मतदान कराने का प्रशिक्षण दिया गया है।

एक कमरे में सिर्फ 50 कर्मियों को बैठाया गया

चार दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम में विकास खंड के अनुसार रोस्टर निर्धारित कर सात बड़े हॉल और अलग-अलग कमरों में मतदान कार्मिकों को प्रशिक्षण दिया गया। पहले एक बड़े हाल में 300 मतदानकर्मियों को प्रशिक्षित किया जाना था, लेकिन अब कोविड-19 प्रोटोकॉल के तहत एक बड़े हॉल में केवल 100 कर्मियों को ही प्रशिक्षण दिया जा रहा है। जबकि एक कमरे में 50 कर्मियों को बैठाया गया था।

पहली पाली में 1350 और दूसरी पाली में 1400 मतदानकर्मी प्रशिक्षण लेने पहुंचे। लगभग 80 से अधिक मास्टर प्रशिक्षकों ने मतदान कर्मियों को मतपेटी खोलने, बंद कराने, सील करने, चारों प्रत्याशियों के बैलेट पेपर फाड़कर मतदाताओं को देने, उसे मोड़ने और फिर बैलेट पेपर को मोड़कर मतपेटी में डालने जैसे तमाम महत्वपूर्ण कार्यों के बारे में विस्तार से जानकारी दी गयी।

डीएम ने कहा- सभी को है बारीकियों की भी जानकारी

इस मौके पर प्रशिक्षण कार्यक्रम अधिकारी महेंद्र प्रताप सिंह ने मतदानकर्मियों को कोविड-19 के गाइडलाइन का भी पालन करने और कराने के भी निर्देश दिए। वहीं, जिलाधिकारी ने सभी मतदान कार्मिकों से कहा कि, मतदान के दिन यदि किसी भी प्रकार की कोई दिक्कत आए तो उसका निदान मतदान कर्मियों को ही करना है। प्रशिक्षण के दौरान तमाम प्रकार की जानकारियां मिलती हैं। ऐसे में प्रशिक्षण की एक-एक बारीकियों की जानकारी होनी चाहिए।

सुबह के तीन घण्टे के सत्र को दो भागों में बांटा गया था। पहले डेढ़ घण्टे में मतपेटी से सम्बंधित प्रशिक्षण दिया गया, जबकि दूसरे भाग में मतदान कैसे कराना है, इसकी जानकारी दी गयी। प्रशिक्षण के नोडल अधिकारी महेंद्र प्रताप सिंह घूम-घूम कर प्रत्येक कक्ष का जायजा लेते रहे।

“मंगलवार से शुरू हुआ प्रशिक्षण 17 अप्रैल तक चलेगा। इस दौरान शिफ्ट के अनुसार सभी मतदानकर्मियों को प्रशिक्षित किया जाएगा। मतदानकर्मियों को कोई दिक्कत न हो इसके लिए सभी व्यवस्थाओं को दुरुस्त किया गया है।”

अपूर्वा दुबे, जिलाधिकारी, फतेहपुर

लखनऊ: कोरोना नियंत्रण के लिए फील्‍ड पर उतरे डीएम, माइक्रो कंटेनमेंट जोन सील

Previous article

बदायूं के उदय भानु ने लिया था देहदान का संकल्‍प, SRMS को सौंपा गया पार्थिव शरीर

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured