बिहार में आंधी-बारिश ने मचाई तबाही, 19 की मौत, CM ने जताया दुख

बिहार के पटना समेत प्रदेश के कई क्षेत्रों में सोमवार शाम को भयानक आंधी-बारिश और वज्रपात के आने से भारी नुकसान हुआ है। हलांकि भीषण गर्मी के चलते बारिश से हल्की राहत तो महसूस हुई। लेकिन इस आंधी और वज्रपात के कोहराम से बिहार में 19 लोगों की मौत भी हो गई है।

 

 

प्रकृति की इस तबाही पर सूबे के मुखिया नीतीश कुमार ने खेद प्रकट किया है। नीतीश कुमार ने मृतकों के परिजनों को शीघ्र ही सहायता राशि देने के निर्देश दिए हैं। पटना सहित कई इलाकों में बारिश के कारण बिजली गुम रही। कुछ घंटों तक सड़कों पर जल भरा रहा। राजगीर में ‘मलमास’ के मेले में लगे सर्कस और खेल-तमाशे का भी रंग फीका हुआ। बारिश की वजह से सर्कस के पंड़ाल भी उखड़ गए और रात में सर्कस नहीं चला। जिससे मेला देखने आए लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। मेले में लगाए गए सर्कस, जादूगर, डिजनीलैंड मेला, नाग-नागिन, कृषि व ग्रामश्री मेला के पंड़ाल उखड़ गए। जिससे सोमवार रात इन खेल-तमाशों को बंद रखा गया।

 

यूपी-बिहार और झारखंड में तूफान की चपेट में आने से 40 लोगों की मौत, कई घायल

 

गया में 5 लोगों की मौत

गया के खिजरसराय में 5 लोगों की अलग-अलग जगहों पर जान गई। मंडई में एक पेड़ के नीचे दबकर राजीव कुमार की मौत हो गयी। दूसरी घटना खैरा की है, जिसमें एक ही परिवार की सुमित्रा देवी(45) और दुलारी देवी (60) की मौत दीवार के नीचे दबकर हो गयी है। इस के बाद रसलपुर में आम के पेड़ की डाली टूटने से एक (12) वर्षीया सपना की मौत हो गयी। खटिहार में भी अलग-अलग जगह पर 4 लोगों की मौत हुई है। एसपी विकाश कुमार के अनुसार कोढ़ा में भी मोधरा गांव मे तान लोगों और कोढ़ा में एक महिला की मौत हुई है,और करीब आधा दर्जन लोगों के घायल होने की खबर है। वहीं रोहतास प्रखंड के ढ़ेलाबाद हरिजन टोला में बिजली के खंभे के गिरने से शिवपूजन राम की मौत हो गयी।औरंगाबाद के दो प्रखंड़ों मे हुए वज्रपात से 5 लोगों की जान गई।