featured दुनिया

अमेरिका: अलग-अलग शहरों में गोलीबारी, 12 की मौत, 49 घायल

crime 3 अमेरिका: अलग-अलग शहरों में गोलीबारी, 12 की मौत, 49 घायल

वाशिंगटन: अमेरिका के लिए वीकेंड का दिन अच्छा नहीं रहा। देश में कई अलग-अलग हिस्सों में कई गोलीबारी की घटनाएं हुई। जिसमें 12 लोगों की मौत हो गई, जबकि 49 लोग घायल हो गए। ये घटनाएं न्यू जर्सी, साउथ कैरोलिना, जॉर्जिया, ओहियो और मिनेसोटा में हुई हैं। अमेरिका में लगातार बढ़ रही गोलीबारी की घटनाओं को देखते हुए। पिछले ही महीने अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने गन वायलेंस को ‘महामारी’ घोषित किया था। फिर भी गोलीबारी की घटनाएं नहीं रुक रही हैं।

वीकेंड पर गोलीबारी

दरअसल, अमेरिका में वीकेंड पर गोलाबारी की कई घटनाएं हुई। इनमें न्यूजर्सी के कैमडेन में शनिवार रात एक हाउस पार्टी में हुई गोलीबारी में दो लोगों की मौत हो गई और पुलिस के अनुसार कम से कम 12 लोग घायल हो गए। वहीं, साउथ कैरोलिना में एक म्यूजिक कंसर्ट में एक 14 वर्षीय लड़की की मौत हो गई और 14 लोग घायल हो गए।

गोलीबारी से ओहियो और अटलांटा में 3-3 लोगों की मौत

अटलांटा, जॉर्जिया में गोलीबारी में तीन लोगों की मौत हो गई। अमेरिकी मीडिया के अनुसार, तीनों लोगों की घटनास्थल पर ही मौत हो गई थी। वहीं, रविवार को ओहियो राज्य के यंग्सटाउन में एक बार के बाहर गोलीबारी में तीन लोगों की मौत हो गई और आठ घायल हो गए, जबकि कोलंबस के एक पार्क में एक 16 वर्षीय लड़की की मौत हो गई और सात लोग घायल हो गए।

पकड़ा गया गोलीबारी करने वाला संदिग्ध

मिनियापोलिस, मिनेसोटा में भी गोलाबारी की एक घटना हुई। इस घटना में एक व्यक्ति की मौत हो गई और आठ घायल हो गए, जबकि एक की हालत गंभीर बनी हुई है। वहीं मिनियापोलिस पुलिस ने कहा है कि गोलीबारी करने वाले एक संदिग्ध को गिरफ्तार कर लिया गया है, जबकि दूसरे संदिग्ध की मौत हो गई है।

वायलेंस रोकने के लिए बाइडेन प्रशासन तैयार कर रहा प्लान

अमेरिका को हाल के महीनों में बड़े पैमाने पर गोलीबारी की घटनाओं सामना करना पड़ा है। इनमें इंडियानापोलिस में एक फैडएक्स फैसिलिटी, कैलिफ़ोर्निया में एक ऑफिस बिल्डिंग, बोल्डर एक किराना की दुकान, कोलोराडो और अटलांटा सहित कई जगहों पर ऐसी घटनाएं हुई हें। जिसके बाद वायलेंस को रोकने के लिए बाइडेन प्रशासन नए नियम बना रहा है।

Related posts

यूपी चीनी मिल घोटाला: बसपा के पूर्व MLC की 1097 करोड़ की संपत्ति अटैच

Shailendra Singh

भारत और कई अन्य देशों को नुकसान पहुंचाने के लिए चीन ले रहा लगातार फैसले

Rani Naqvi

विश्व गुरु के रूप में भारत की होगी पहचान! विधानसभा में पारित हुआ दिल्ली शिक्षक विश्वविद्यालय विधेयक

Neetu Rajbhar