November 30, 2022 4:59 pm
featured दुनिया देश

विश्व बैंक के अध्यक्ष पद के लिए भारतीय महिला इंदिरा नूई का नाम शामिल

इंदिरा नूई .. विश्व बैंक के अध्यक्ष पद के लिए भारतीय महिला इंदिरा नूई का नाम शामिल

वर्ल्‍ड बैंक के अध्‍यक्ष पद की रेस में पेप्सिको की पूर्व सीईओ इंदिरा नूई नाम शामिल है। अमेरिकी अखबार द न्यूयॉर्क टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक व्हाइट हाउस इस पद के लिए इंदिरा नूई के नाम पर विचार कर रहा है। आपको बता दें कि वर्ल्‍ड बैंक के वर्तमान अध्यक्ष जिम योंग किम ने इस महीने की शुरुआत में बताया था कि वह फरवरी में अपना पद छोड़ देंगे। इस घोषणा के बाद से ही नए अध्‍यक्ष के लिए विचार किया जाने लगा है। वर्तमान में वर्ल्‍ड बैंक के अध्‍यक्ष योंग किम इस पद को छोड़ने के बाद निवेश कंपनी से जुड़ेंगे।

इंदिरा नूई .. विश्व बैंक के अध्यक्ष पद के लिए भारतीय महिला इंदिरा नूई का नाम शामिल

इसे भी पढ़ेंःअमेरिका ने सीरिया के आर्मी बेस पर बरसाई मिसाइलें

द न्यूयॉर्क टाइम्स के अनुसार डोनाल्ड ट्रंप की बेटी इवांका ने इंदिरा नूई को प्रशासनिक सहयोगी के अलावा ‘मार्गदर्शक और प्रेरणास्रोत’ बताया है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की बेटी इवांका ट्रंप नए अध्यक्ष के चयन में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहीं है। खबर है कि अभी चयन प्रक्रिया प्रारंभिक चरण में है। आमतौर पर ऐसे खास पदों के लिए नामांकन पर अंतिम निर्णय होने तक शुरुआती दावेदार दौड़ से बाहर हो जाते हैं। हालांकि अब तक यह साफ नहीं हो सका है कि अगर इस पद के लिए नूई का नामांकन होता है तो वो स्वीकार करेंगी अथवा नहीं।

बता दें कि चेन्नई में जन्मीं 63 वर्षीय नूई को देश की ताकतवर महिलाओं में से एक हैं। नूई ने कई कंपनियों में काम करने के बाद 1994 में पेप्सिको ज्वाइन किया। गौरतलब है कि 2006 में नूई ने कंपनी की कमान संभाली और इसके बाद से पेप्सिको के शेयर में 78 फीसदी तक का इजाफा हो चुका है। उन्‍होंने 12 साल तक पेप्सिको की कमान संभालने के बाद पिछले वर्ष अगस्त में पद से इस्तीफा दे दिया था। दिलचस्प बात है कि दुनिया की चर्चित पत्रिका फोर्ब्स की सौ सबसे प्रभावशाली महिलाओं की सूची में नूई को कई बार शामिल किया जा चुका है। 2017 में नूई इस सूची में 11वें नंबर पर थीं। साल 2007 में उन्हें भारत का प्रतिष्ठित पद्म भूषण सम्मान भी मिला था।

विश्व बैंक के अध्‍यक्ष पद के लिए डोनाल्‍ड ट्रंप की बेटी इवांका का नाम भी चर्चा में है। हालांकि सोमवार को व्हाइट हाउस की ओर से इसको खारिज किया है। हाउस के एक बयान में कहा गया कि वह अमेरिका की नामांकन प्रक्रिया के प्रबंधन में मदद करेंगी। क्योंकि उन्होंने बीते दो सालों में विश्व बैंक के नेतृत्व के साथ निकटता से काम किया है।

Related posts

प्रशिक्षण से बेहतर होगी व्यापार की संभावनाएं, ODOP का भी होगा विकास

Aditya Mishra

दिल्ली के जहांगीरपुरी इलाके की गली में निकले कोरोना के 46 पॉजिटिव केस, पूरा इलाका हुआ सील 

Rani Naqvi

ज्ञानवापी पर सुनवाई हुई पूरी, कोर्ट में 45 मिनट तक चली सुनवाई , 4 याचिकाकर्ताओं और दोनों पक्षों के 19 वकीलों को मिली एंट्री

Rahul