भारत बंद-जलाया गया विधायकों का घर-हजार लोग हिरासत में

ऩई दिल्ली।  दलितों का भारत बंद का मामला लगातार गरमाता ही जा रहा हैं और दलितों की हिंसा धीरे धीरे और भड़कने लगी हैं। जिसका असर साफतौर पर हर राज्य में देखने को मिल रहा हैं। यूपी, पंजाब हरियाणा,बिहार मध्यप्रदेश राजस्थान कोई भी इससे अछूता नही हैं और राजस्थान में दलितो के भारत बंद और हिंसक घटनाओं को लेकर 1,000 लोगों को गिरफ्तार किया गया है और इतना ही नहीं इस मामले में असामाजिक तत्वों के खिलाफ 175 मामले भी दर्ज किये गये हैं।

बता दे कि राजस्थान के करौली जिले में कर्फ्यू भी लगा दिया गया हैं बता दे कि यें कर्फ्यू तब लगाया गया जब राजस्थान के करौली जिले के हिंडौन कस्बे में भाजपा विधायक और एक पूर्व विधायक के घरों में 5,000 लोगों की उग्र भीड़ द्रारा आग लगा दी गई थी और लोगों ने दूसरी जगहों पर आग लगाई और इसके अलावा पत्थरबाजी भी जिसके बाद राजस्थान के करौली जिले में कर्फ्यू भी लगा दिया गया हैं।

बता दे कि राजस्थान के गृहमंत्री गुलाब चंद कटारिया की ओऱ से कहा गया हैं कि राजस्थान में दलितों द्रारा भारत बंद को लेकर जो नुकसान किया गया हैं उसके खिलाफ राजस्थान में दूसरी जाति के लोग दलित प्रदर्शनकारियों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहें है। और अलवर में भारत बंद को लेकर एक सख्स की मौत हो गई थी जिसके बाद लोग अलग-अलग मांगों को लेकर धरने पर बैठ गये हैं।

बता दे कि राजस्थान में व्यापार मंडल और अन्य जाति के लोगों ने अनुसूचित जाति अनुसूचित जनजाति बाहुल्य क्षेत्र में जूलुस भी निकाला गया जुलूस निकालने का काऱण भी दलितों द्रारा किया गया भारत बंद को लेकर था। जिसमें कहा गया कि यें जुलूस प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसक घटनाओं को लेकर निकाला गया हैं।

उनकी ओर से कहा गया कि भीड़ को काबू में करने के लिये पुलिस द्रारा आंसू गैस के गोले छोडे़, लाठीचार्ज और रबड़ की गोलियां भी चलाई गई थी। बता दे कि दलित द्रारा हुई हिंसक घटनाओं में प्रदेश के अलग-अलग जगहों पर हुई हिंसक घटनाओं में करीब 170 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। बता दे कि हिंडौन कस्बे में अभी भी स्थिती काबू में नहीं हैं हालाकिं हिंडौन कस्बे को छोड़कर सभी जगह स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है और शांतिपूर्ण बनी हुई हैं।

बता दे कि कस्बे में पत्थरबाजी और आगजनी की घटनाओं के बाद सुबह से हालात तनावपूर्ण बने हुए थे और राजस्थान के विधायक और पूर्व विधायक के घरों में आगजनी की घटना हुई थी जिसके बाद से ही मंगलवार सुबह तक के लिये कस्बे में कर्फ्यू लगा दिया गया था। करौली पुलिस अधीक्षक अनिल कायल ने बताया कि आगजनी और पत्थरबाजी की घटना के बाद लगभग 40 लोगों को हिरासत में ले लिए गए है हालाकि अब स्थिती काबू में बनी हुई हैं।

बता दे कि आज सुबह कर्फ्यू हटा लिया गया हैं। सवाई माधोपुर जिला कलेक्टर के सी वर्मा की ओर से बताया गया हैं कि स्थिती पूरी तरह नियंत्रण में होने की वजह से अब कर्फ्यू हटा लिया गया हैं। बता दे कि प्रशासन की ओऱ से कहा गया हैं कि दलितों द्रारा भारत बंद को लेकर हुए नुकसान का अभी आककन किया जा रहा हैं।