September 25, 2021 11:51 pm
featured खेल

पाकिस्तानी सेना के लिए घास खाने के लिए क्यों तैयार हुए शोएब अख्तर..

shoeb akhtar पाकिस्तानी सेना के लिए घास खाने के लिए क्यों तैयार हुए शोएब अख्तर..

पाकिस्तान के तेज गेंदबाज शोएब अख्तर एक बार फिर से खबरों में आ गये हैं। लेकिन इस बार वो पाकिस्तानी क्रिकेटर्स की बुराई की वजह से नहीं बल्कि घास की वजह से खबरों में ये हैं। जिसकी वजह से हर तरफ उनकी चर्चा हो रही है।

shoeb 3 पाकिस्तानी सेना के लिए घास खाने के लिए क्यों तैयार हुए शोएब अख्तर..
उन्होंने पाकिस्तान के एक न्यूज चैनल से कहा कि वह पाकिस्तानी सेना का बजट बढ़ाने के लिए घास तक खाएंगे। 44 साल के अख्तर ने एआरवाई न्यूज को दिए एक इंटरव्यू में कहा, ‘अगर अल्लाह कभी मुझे अधिकार देता है, तो मैं खुद घास खाऊंगा लेकिन सेना का बजट बढ़ा दूंगा।’ उन्होंने यह भी कहा कि नागरिकों को सशस्त्र बलों के साथ मिलकर काम करना चाहिए।पूर्व पेसर ने कहा, ‘मैं अपने सेना प्रमुख को अपने साथ बैठने और निर्णय लेने के लिए कहूंगा। यदि बजट 20 प्रतिशत है, तो मैं इसे 60 प्रतिशत करूंगा। यदि हम एक-दूसरे का अपमान करते हैं, तो नुकसान हमारा ही है।’

उन्होंने कहा, मुझे यह समझ नहीं आता कि देश के सिविलियन क्यों नहीं सेना के साथ मिलकर काम कर सकते हैं। मेरे पास अगर अधिकार होगा, तो मैं अपने आर्मी चीफ के साथ बैठता और अगर बजट 20% है, तो इसे 60% कर देता। उन्होंने कहा कि अगर हम एक-दूसरे का अपमान करते रहेंगे, तो नुकसान हमारा ही होगा।

शोएब ने ये भी कहा कि उन्होंने 1999 में हुए करगिल युद्ध में हिस्सा लेने के लिए इंग्लिश काउंटी नॉटिंघमशायर से मिले 175,000 पाउंड के प्रस्ताव को ठुकरा दिया था। करगिल युद्ध 16000 फीट की ऊंचाई पर लड़ा गया था जिसमें 1,042 पाकिस्तानी सैनिक मारे गए थे और 527 भारतीय सैनिक शहीद हुए थे।

अख्तर ने कहा, लोग शायद ही इस कहानी को जानते हों। मेरे पास नॉटिंघम का 175,000 पाउंड के कांट्रैक्ट का प्रस्ताव था। फिर 2002 में मेरे पास एक और बड़ा अनुबंध था। जब करगिल हुआ तो मैंने दोनों प्रस्ताव ठुकरा दिए थे।

उन्होंने कहा, मैं लाहौर की बाहरी सीमा पर था। एक जनरल ने मुझसे पूछा कि मैं यहां क्या कर रहा हूं। मैंने कहा कि युद्ध शुरू होने वाला है और हम लोग एक साथ मरेंगे। मैंने काउंटी क्रिकेट को दो बार छोड़ा और काउंटी इससे हैरान थीं। मैं इससे चिंतित नहीं था। मैंने कश्मीर में अपने दोस्तों को फोन किया और कहा कि मैं लड़ाई के लिए तैयार हूं।

https://www.bharatkhabar.com/hinduist-fire-brand-leader-lg-in-jammu-and-kashmir/
शोएब का बयान अब सोशल मीडिया से लेकर मीडिया तक पर चर्चा का विषय बना हुआ है। शोएब के बयान पर कई तरह की प्रतिक्रियाएं आ रही हैं।

Related posts

मंत्री गंगवार 28 विश्वकर्मा राष्ट्रीय पुरस्कार व 128 राष्ट्रीय सुरक्षा पुरस्कार वितरित करेंगे

mahesh yadav

जानिए: नोटबंदी और जीएसटी के बाद कौन सा होगा मोदी सरकार का अगला बड़ा कदम

Rani Naqvi

तीन तलाक के मामले पर मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने कहा, ना करें दखलंदाजी

shipra saxena