September 23, 2021 3:31 am
featured जम्मू - कश्मीर

जम्मू कश्मीर में आतंकी धमकी से घबराए अब कांग्रेस सरपंच ने दिया इस्तीफा..

bjp congress party जम्मू कश्मीर में आतंकी धमकी से घबराए अब कांग्रेस सरपंच ने दिया इस्तीफा..
जम्मू कश्मीर से राजेश विद्यार्थी की रिपोर्ट

जम्मू कश्मीर।उत्तरी कश्मीर के काजीगुंड से दो सरंपचों के मारे जाने के बाद अब कांग्रेस के सोपोर से सरपंच ने अपना इस्तीफादे दिया है। इस बीच, भाजपा के चार और सदस्यों ने पार्टी से त्यागपत्र दे दिया है।

army has intel on a possible terrorist attack in southern india ht file shutterstock 1568035651 जम्मू कश्मीर में आतंकी धमकी से घबराए अब कांग्रेस सरपंच ने दिया इस्तीफा..

भाजपा के अब तक दो सरपंचों सहित दस नेता पार्टी छोड़ चुके हैं। सोपोर विधानसभा क्षे़त्र में डंगेरपोरा इलाके से कांग्रेस के सरपंच मोहम्मद रमजान लोन ने शुक्रवार को अपना त्यागपत्र दे दिया। मोहम्मद रमजान ने कहा वह पिछले कई सालों से कांग्रेस में सक्रिय कार्यकर्ता के तौर पर काम करते रहे हैं। उनके परिवार को सुरक्षा नहीं मिल पाई और सरपंच का पिछला चुनाव लड़ा। सरपंच बनने के बाद भी उन्हें कई बार आतंकी धमकियां मिलती रही हैं। उनकी चार बेटियां है और वह गरीब परिवार से संबंध रखते हैं। साल की उम्र में वह अपने परिवार का रिस्क नहीं ले सकते हैं। अब उनका कांग्रेस पार्टी से कोई संबंध नहीं है और

कोई भूल चुक हुई हो तो उसे माफ कीजिएगा। इससे पहले आतंकियों ने काजीगुंड में सज्जाद अहमद खांडे निवासी वेरीनाग और आरिफ अहमद की गोली मारकर हत्या कर दी थी। इसके बाद भाजपा के वेरीनाग के उपप्रधाननिसार अहमद वानी, सब्जार अहमदा पाडर, आशिक हुसैन ने इस्तीफा दिया। पिछले तीन दिनों में भाजपा के दस नेता त्यागपत्र दे चुके हैं। इनमें डूरू से भाजपा के महासचिव शहजाद अहमद भट, कुलगाम जिला के सचिव निसार अहमद, पार्टी कार्यकर्ता मोहम्मद अयूब गनई, शबीर रसूल खान, खालिक सुबान शेख सभी निवासी नरपोरा कोकरनाग शामिल हैं।

https://www.bharatkhabar.com/hinduist-fire-brand-leader-lg-in-jammu-and-kashmir/

इन नेताओं ने परिवार का हवाला देकर इस्तीफा दिया है। भाजपा के कश्मीर के उपप्रधान सोफी युसुफ के अनुसार घाटी में भाजपा नेताओं को चुनकर मारा जा रहा है। पुलिस प्रशासन से सुरक्षा देने का आग्रह किया गया है। वहीं, भाजपा के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कुछ लोग मतलब के लिए पार्टी में आए थे। जब उनका मतलब पुरा नहीं हुआ तो पार्टी छोड़कर जा रहे हैं। भाजपा अपने आदर्शो पर कायम है और जनता की सेवा के लिए तत्पर है।

Related posts

डेढ़ करोड़ की बस में चलेंगे शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती

bharatkhabar

राजनाथ सिंह बाढ़ प्रभावित असम के लिए रवाना

bharatkhabar

उप्रः नवाज के बाद श्रीमद्भागवत कथा पर भी लगी रोक

mahesh yadav