Uncategorized

कोल इंडिया तीसरे चरण की विशेष अग्रिम ई-नीलामी करेगा

कोलकाता। कोल इंडिया ने बिजली उत्पादन करने वाली कंपनियों के लिए अगस्त से शुरू होने वाले अगले छह महीने की अवधि के लिए कोयला की विशेष अग्रिम नीलामी में कोयले की मात्रा करीब 25 प्रतिशत कम कर दी है। कंपनी ने इसी अवधि के लिए मई में 4.741 करोड़ टन कोयला नीलामी की घोषणा की थी, उसकी जगह अब 3.555 करोड़ टन कोयले की ही नीलामी करेगी। कोयला उत्पादन की इस सबसे बड़ी कंपनी ने कहा है कि वह बिजली उत्पादकों के लिए अगस्त 2016 से जनवरी 2017 तक के लिए 17,18 और 19 अगस्त को तीसरे चरण की विशेष अग्रिम ई-नीलामी करेगी।

कंपनी की ओर से मई में जारी नोटिस के अनुसार, यह कहा गया था कि विशेष अग्रिम ई-नीलामी के तहत अगस्त से जनवरी माह के लिए वह बिजली उत्पादकों के लिए लगभग 4.741 करोड़ टन कोयला उपलब्ध कराएगी।

वास्तव में मई में जारी अधिसूचना में कहा गया था कि वह इस अवधि हेतु बिजली उत्पादकों के लिए लगभग 6.361 करोड़ टन कोयला और 1.6 करोड़ टन गैर बिजली क्षेत्र के उपभोक्ताओं के लिए एक विशेष ई-नीलामी के जरिए उपलब्ध कराने का प्रावधान करेगा।

इससे पहले जुलाई की शुरुआत में जारी नोटिस में भी कोल इंडिया ने बिजली उत्पादकों के लिए अगस्त 2016 से मार्च 2017 तक नीलामी के लिए उपलब्ध कोयले को कम कर 5.122 करोड़ टन कोयला बताया था।

बाद में कंपनी की नोटिस में कहा गया था कि बिजली उत्पादकों के लिए तीसरे चरण की नीलामी के कुल संभावित 3.555 करोड़ टन कोयले में 1.754 करोड़ टन कोयला सड़क मार्ग से जबकि 1.801 करोड़ टन कोयला रेल मार्ग से देने का प्रस्ताव है।

अगस्त से जनवरी अवधि तक की नीलाम हुए कोयले को ढोने के लिए कुल 4 हजार 539 रेल रेक का इस्तेमाल किया जाएगा।

Related posts

पंजाब के स्कूलों और अस्पतालों में मिलेगा फ्री वाई-फाई

shipra saxena

आर्येन्द्र शर्मा के शंखनाद में छिप गया किशोर का चुनावी बिगुल

Rahul srivastava

अगले साल भारत दौरे पर आ सकते हैं ओबामा

bharatkhabar