November 30, 2022 11:30 pm
featured दुनिया

अर्थशास्त्र के क्षेत्र मे सराहनीय योगदान के लिए अमेरिका के दो अर्थशास्त्रियों को नोबेल पुरस्कार

अर्थशास्त्र के क्षेत्र मे सराहनीय योगदान के लिए अमेरिका के दो अर्थशास्त्रियों को नोबेल पुरस्कार

नई दिल्ली:अर्थशास्त्र के क्षेत्र मे सराहनीय योगदान के लिए इस साल अमेरिका के दो अर्थशास्त्रियों को नोबेल पुरस्कार के लिए चुना गया है। रॉयल स्वीडिश एकेडमी ऑफ इकोनॉमिक्स ने सोमवार इस पुरस्कार के लिए विलियम नोरधॉस और पॉल रोमर के नाम का एलान किया है। इन दोनों अर्थशास्त्रियों को यह सम्मान जलवायु परिवर्तन और आर्थिक विकास पर खोज के लिए दिया जा रहा है।

 

nobel अर्थशास्त्र के क्षेत्र मे सराहनीय योगदान के लिए अमेरिका के दो अर्थशास्त्रियों को नोबेल पुरस्कार

 

ये भी पढें:

दिल्लीःभारतीय वायुसेना दिवस पर गाजियाबाद स्थित हिंडन एयरबेस पर वायुसेना ने किया प्रदर्शन
आज एक बार फिर पेट्रोल-डीजल की कीमतों में हुई बढोतरी, दिल्ली में पेट्रोल 82 के पार

उल्लेखनीय है कि अर्थशास्त्र के नोबेल पुरस्कार से पहले शांति, मेडिसिन, भौतिकी और रसायन शास्त्र के लिए नोबेल पुरस्कार का एलान किया जा चुका है। इसमें यजीदी कार्यकर्ता नादिया मुराद को 2018 के नोबेल शांति पुरस्कार और मेडिसिन के लिए संयुक्त रूप से जेम्स पी. एलिसन और तासुकू होंजो को चुना गया। वहीं भौतिकी के नोबेल पुरस्कार के लिए अमेरिका के आर्थर अश्किन, फ्रांस के जेरार्ड मोउरो और कनाडा की डोना स्ट्रिकलैंड के नाम की घोषणा की जा चुकी है। इसके अलावा रसायन शास्त्र के लिए फ्रांसेस एच. एरनॉल्ड, जॉर्ज पी स्मिथ और सर ग्रेग्रॉरी पी विंटर को नोबेल पुरस्कार के लिए चुना गया है।

 

बता दें कि साहित्य के नोबेल पुरस्कार को इस साल स्थगित कर दिया गया है। पुरस्कार के 117 साल के इतिहास में इसे दूसरी बार रोका गया है। इससे पहले इसे 1943 में द्वितीय विश्व युद्ध को लेकर स्थगित किया गया था। नोबेल पुरस्कार प्रदान करने वाली संस्था एक सेक्स स्कैंडल में फंस गई है। यह अकादमी 1901 से ही साहित्य नोबेल पुरस्कार विजेताओं का चयन कर रही है। भारत को सिर्फ एक बार साहित्य का नोबेल पुरस्कार मिला है। 1913 में रवींद्रनाथ टैगोर को गीतांजलि के लिए यह पुरस्कार दिया गया था।

 

विजेता का चुनाव करने वाली स्वीडिश एकेडमी की ज्यूरी मेंबर कटरीना के पति पर यौन शोषण के आरोप लगे हैं। इसीलिए 2018 के विजेता के नाम पर मुहर नहीं लग पाई। कटरीना के पति और फ्रांसीसी फोटोग्राफर जेन क्लोड अरनॉल्ट पर लगे यौन शोषण के आरोपों के चलते स्वीडिश एकेडमी आलोचनाओं के घेरे में है।

 

ये भी पढें:

 

उत्तराखंडःपर्यटन के लिहाज से देवभूमि नैसर्गिक डेस्टिनेशन
मानव तस्करीः नेपाल से दिल्ली लाई जाती हैं प्रतिदिन 50 लड़कियां

 

By: Ritu Raj

Related posts

राजधानी लखनऊ के चारबाग रेलवे स्टेशन के पास होटल विराट इंटरनेशनल में लगी भयंकर आग

Rani Naqvi

हिंदी फिल्मों को लेकर प्रियंका चोपड़ा का शर्मनाक बयान, लोगों ने कहा ‘चार पैसे क्या आने लगे…’

mohini kushwaha

धोखा देने पर गर्लफ्रेंड ने बॉयफ्रेंड को काट कर बनाई बिरयानी, कर्मचारियों को खिलाई

Rani Naqvi