दमिश्क में रूसी दूतावास पर हमले की संयुक्त राष्ट्र ने की निंदा

संयुक्त राष्ट्र। सीरिया की राजधानी दमिश्क में रूसी दूतावास पर हमले की संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने कड़े शब्दों में निंदा की है। हमले में दूतावास को काफी क्षति पहुंची है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, संयुक्त राष्ट्र ने शुक्रवार रात जारी एक बयान में कूटनीति व वाणिज्यदूत परिसरों में किसी भी घुसपैठ या क्षति के खिलाफ, और इन मिशनों की शांति में किसी भी व्यवधान को रोकने या उनकी मर्यादा को बचाने के साथ ही मेजबान देश के दायित्व के बुनियादी सिद्धांत को याद दिलाया।

united-nations

बयान के मुताबिक, मौलिक सिद्धांत व दायित्व 1961 में कूटनीतिक संबंधों पर विएना सम्मेलन तथा 1963 में वाणिज्यदूत संबंधों पर विएना सम्मेलन सहित अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलनों द्वारा प्रदत्त है। रुस के विदेश मंत्रालय के मुताबिक, सरकार विरोधी बलों के नियंत्रण वाले दमिश्क के जोबार जिले से शुक्रवार को दो मोर्टार दागे गए, जो दमिश्क के मध्य अल-माजरा इलाके में स्थित दूतावास परिसर में गिरे।मंत्रालय के एक बयान के मुताबिक, ष्इस दौरान कोई व्यक्ति घायल नहीं हुआ।ष्

अक्टूबर में यह तीसरा मौका है, जब रूसी दूतावास पर आतंकवादियों के नियंत्रण वाले इलाकों से गोलाबारी की गई है। रपट के मुताबिक, इससे पहले चार अक्टूबर व 13 अक्टूबर को हुए दोनों हमलों में दूतावास की इमारत क्षतिग्रस्त हुई थी, लेकिन कोई घायल नहीं हुआ था।