कश्मीर मुद्दा सुलझाने के लिए भारत-पाकिस्तान करें वार्ता : एर्दोगन

इस्लामाबाद| तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तईप एर्दोगन ने गुरुवार को कहा कि कश्मीर को लेकर भारत और पाकिस्तान के बीच बढ़ते तनाव की बहुत दिनों तक अनदेखी नहीं की जा सकती। दोनों देशों को जम्मू एवं कश्मीर की जनता की मांगों को ध्यान में रख कर बातचीत के जरिए समाधान निकालने की जरूरत है।

recep-tayyip

पाकिस्तान के दौरे पर आए तुर्की के राष्ट्रपति ने यहां के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के साथ एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में कहा, “नियंत्रण रेखा पर बढ़ती समस्याओं और तनाव की वजह से कश्मीर में हमारे भाइयों व बहनों पर बहुत अधिक प्रभाव पड़ा रहा है और हम उस जगह आ गए हैं, जहां हम उनकी और अनदेखी नहीं कर सकते।”तुर्की के राष्ट्रपति ने कहा कि नियंत्रण रेखा पर तनाव और जानमाल के नुकसान पर करीबी नजर रखी जा रही है।उन्होंने कहा कि कश्मीर मुद्दे का समाधान ‘संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव और कश्मीर के भाइयों व बहनों की मांगों’ को ध्यान में रखते हुए ढूंढा जा सकता है।

एर्दोगन ने कहा, “पाकिस्तान और तुर्की मुश्किल वक्त में हमेशा साथ रहे हैं। उन्होंने जोर देकर कहा कि पाकिस्तान, तुर्की और अफगानिस्तान के बीच शांति के लिए त्रिपक्षीय समझौता को पुनर्जीवित करने की जरूरत है। तुर्की के राष्ट्रपति दो दिवसीय दौरे पर बुधवार को इस्लामाबाद पहुंचे।