सुरक्षा परिषद की स्थायी सीटें बढ़ाने का पाकिस्तान ने किया विरोध

न्यूयार्क। संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान की स्थायी प्रतिनिधि मलीहा लोधी ने कहा है कि सुरक्षा परिषद में नई स्थायी सीटें गठित करने का पाकिस्तान सख्ती के साथ विरोध करता है। मंगलवार को यह जानकारी मिली। डॉन ऑनलाइन की खबर के अनुसार, लोधी सोमवार को संयुक्त राष्ट्र महासभा में सुरक्षा परिषद में सुधार पर आयोजित बैठक को संबोधित कर रही थीं। उन्होंने नई स्थायी सीटें बनाए जाने को संयुक्त राष्ट्र के स्थापित सिद्धांतों के खिलाफ करार दिया।

pakistan-opposes-the-permanent-seat-extend-view-of-security-council

हालांकि, उन्होंने कहा कि पाकिस्तान सुरक्षा परिषद की अस्थायी सीटों के विस्तार का समर्थन करता है ताकि यह ज्यादा लोकतांत्रिक, जवाबदेह, पारदर्शी और प्रभावी बने। पाकिस्तानी दूत ने कहा कि सुरक्षा परिषद की सुधार प्रक्रिया की लंबे समय से लटकी प्रक्रिया कुछ मुट्ठी भर देशों के कारण है जो खुद को एक गैर बराबरी के अधिकार के लिए पेश कर हैं।इससे पहले जून में पाकिस्तान ने सवाल उठाया था कि नई स्थायी सीटें जोड़ने से 15 सदस्यीय यह संस्था किस तरह अपना प्रतिनिधित्व एवं प्रभाव बढ़ा सकेगी?

सुरक्षा परिषद सुधार पर अंतर सरकारी वार्ता की बैठक में मलीहा ने कहा कि इसका कभी भी जवाब नहीं दिया गया कि किस तरह से इस कदम से सुरक्षा परिषद अधिक प्रतिनिधित्व वाला होगा।पाकिस्तानी दूत ने कहा कि नए स्थायी सदस्यों को जोड़ने से वास्तव में प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा।उन्होंने जोर देकर कहा कि परिषद को निर्वाचित सीटों की श्रेणी का विस्तार करने की जरूरत है अर्थात अस्थाई सीटें बढ़ाने की जरूरत है।