अफगानिस्तान में जर्मन वाणिज्यदूतावास पर हमला, 4 मरे

काबुल| अफगानिस्तान के मजार-ए-शरीफ शहर में एक आत्मघाती हमलावर ने विस्फोटकों से भरे एक ट्रक से जर्मनी के वाणिज्यदूतावास में विस्फोट कर दिया। हमले में चार लोगों की मौत हो गई और 110 से भी ज्यादा लोग घायल हो गए। टोलो न्यूज के मुताबिक, बाल्ख प्रांत के पुलिस चीफ जनरल सैयद कमाल सादात ने कहा कि हमला गुरुवार को स्थानीय समयानुसार रात 11 बजे वाणिज्यदूतावास के सामने हुआ।

afganstan

उन्होंने कहा कि दूतावास के प्रवेश द्वार के पास विस्फोटकों से भरे ट्रक में विस्फोट कर दिया गया, जिसके बाद गोलीबारी भी हुई। सादात ने कहा, सभी घायल स्थानीय निवासी हैं।स्वास्थ्य सूत्रों के अनुसार, मृतकों की संख्या में इजाफा हो सकता है, क्योंकि कुछ घायलों की हालत गंभीर है। आतंकवादी संगठन तालिबान ने हमले की जिम्मेदारी ली है।

तालिबान के प्रवक्ता जबिउल्ला मुजाहिद ने एक बयान में कहा कि हमला कुंदुज में ‘आक्रमणकारी देशों’ द्वारा हाल में किए गए हवाई हमले का जवाब है, जिसके कारण कई नागरिकों की जान चली गई। नाटो के नेतृत्व में तीन नवंबर को कुंदुज शहर के बाहरी इलाके में कई सिलसिलेवार हवाई हमले किए गए थे, जिसके बाद वहां विदेशी और अफगान सुरक्षा बलों ने जमीनी अभियान को अंजाम दिया था।

बीबीसी के मुताबिक, अफगानिस्तान में जर्मनी के करीब 1,000 सैनिक मौजूद हैं, जिनमें से अधिकांश बाल्ख प्रांत में हैं। नाटो के एक प्रवक्ता ने कहा कि वाणिज्यदूतावास को भारी क्षति पहुंची है। नाटो सैनिक घटनास्थल पर ही मौजूद हैं और अपने कर्मचारियों को बाहर निकालने की तैयारी कर रहे हैं।