दलाई लामा-स्लोवाकियाई राष्ट्रपति की मुलाकात से चीन हुआ नाखुश

बीजिंग। चीन ने सोमवार को स्लोवाकिया के राष्ट्रपति आंद्रेज किस्का की दलाई लामा के साथ हुई बैठक की आलोचना की और कहा कि बैठक के नकारात्मक प्रभाव को खत्म करने के लिए स्लोवाकिया जरूरी कदम उठाए। विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग का यह बयान राष्ट्रपति किस्का द्वारा चीन के गंभीर रूप से आपत्ति जताए जाने के बाद भी रविवार को भोजनकाल में ब्रातिस्लावा में दलाई लामा से मिलने पर जोर देने के बाद आया।

dalai-lama

हुआ ने कहा, “यह स्लोवाकिया की एक चीन नीति के पालन की प्रतिबद्धता के खिलाफ है। चीन सख्ती से इसके खिलाफ है और इस पर प्रतिक्रिया जरूर देगा।” विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता ने कहा कि दलाई लामा काफी लंबे समय से चीन विरोधी अलगाववादियों की गतिविधियों में शामिल रहे हैं, जिनका लक्ष्य तिब्बत को चीन से अलग करना है।

हुआ ने कहा, “स्लोवाकिया के राष्ट्रपति की ओर से जान बूझकर उठाया गया यह कदम और गलत रुख पर दिए गए जोर ने चीन के मूल हितों और द्विपक्षीय रिश्तों की राजनीतिक नींव को नुकसान पहुंचाया है।” उन्होंने कहा, “चीन इस मामले में स्लोवाकिया से प्रभावी कदम उठाने की मांग करता है, ताकि इस बैठक से द्विपक्षीय रिश्तों पर पड़े नकारात्मक प्रभाव को खत्म किया जा सके और द्विपक्षीय रिश्ते फिर से पटरी पर आ सकें।”