विंबलडन: क्वार्टर फाइनल में पहुंचीं सानिया, बोपन्ना हारे

लंदन। सर्वोच्च विश्व वरीयता प्राप्त महिला युगल खिलाड़ी भारत की टेनिस स्टार सानिया मिर्जा स्विट्जरलैंड की अपनी जोड़ीदार मार्टिना हिंगिस के साथ वर्ष के तीसरे ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट विंबलडन के महिला युगल वर्ग के क्वार्टर फाइनल में पहुंच गईं। हालांकि भारत के शीर्ष युगल खिलाड़ी रोहन बोपन्ना को पुरुष युगल वर्ग में हार का सामना करना पड़ा। सानिया-हिंगिस की शीर्ष वरीय जोड़ी ने सोमवार को कोर्ट-17 पर हुए महिला युगल वर्ग के तीसरे दौर के मुकाबले में अमेरिका की क्रिस्टीना मशेल और लातविया की येलेना ओस्टापेंको की जोड़ी को एकतरफा मुकाबले में सीधे सेटों में 6-1, 6-0 से मात दे दी।

Martina Hingis and Sania Mirza

मौजूदा चैम्पियन सानिया-हिंगिस को चौथे दौर में प्रवेश करने के लिए सिर्फ 46 मिनट पसीना बहाना पड़ा। सानिया-हिंगिस की जोड़ी ने 31 के मुकाबले 57 अंक हासिल किए और इस दौरान उन्होंने अपनी प्रतिद्वंद्वी जोड़ी की सर्विस पांच बार ब्रेक की।

इस वर्ष आस्ट्रेलियन ओपन जीत चुकीं सानिया-हिंगिस को अब वर्ष के दूसरे ग्रैंड स्लैम खिताब का इंतजार है। सानिया इससे पहले 2008 में विंबलडन के क्वार्टर फाइनल और 2011 में सेमीफाइनल तक का सफर तय कर चुकी हैं, हालांकि हिंगिस के साथ वह इस प्रतियोगिता में दूसरी बार ही उतरी हैं।

उधर पुरुष युगल वर्ग में बोपन्ना और रोमानिया के फ्लोरिन मेर्गिया की छठी वरीय जोड़ी को फिनलैंड के हेनरी कोंटीनेन और आस्ट्रेलिया के जॉन पीरस की 10वीं वरीय जोड़ी से हार झेलनी पड़ी। कोंटिनेन-पीरस की जोड़ी ने बोपन्ना और मेर्गिया की जोड़ी को दो घंटे 55 मिनट तक चले मुकाबले में 2-6, 6-3, 6-4, 6-7, 8-6 से हराया।

बोपन्ना और मेर्गिया की जोड़ी ने 6-2 से पहला सेट अपने नाम कर अच्छी शुरुआत की, लेकिन वह अगले दो सेट गंवा बैठे। चौथे सेट में इस जोड़ी ने वापसी की और कड़ा संघर्ष करते हुए 7-6 से सेट जीत कर मैच 2-2 से बराबर कर लिया। निर्णायक और अंतिम सेट में कोंटीनेन और पीरस की जोड़ी ने जीत हासिल करते हुए बोपन्ना-मेर्गिया का सफर रोक दिया और क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर लिया।

(आईएएनएस)