साप्ताहिक समीक्षा: फेड दरें बढ़ने की आशंका से गिरा शेयर बाजार

मुंबई। पिछले सप्ताह भारतीय शेयर बाजार गिरावट के साथ बंद हुए, जोकि वैश्विक बाजारों पर अमेरिकी फेड रिजर्व द्वारा ब्याज दरों में बढ़ोतरी की आशंका से आए दबाव का नतीजा है। शुक्रवार को खत्म हुए सप्ताह में सेंसेक्स में 294.75 अंक या 1.05 फीसदी गिरावट दर्ज की गई और यह 27,782.25 पर बंद हुआ, जबकि निफ्टी 94.35 अंक या 1.09 फीसदी गिरावट के साथ 8,572.55 पर बंद हुआ। बीएसई के मिडकैप सूचकांक में 35.02 अंक या 0.27 फीसदी की गिरावट आई और यह 13,000.15 पर बंद हुआ, जबकि स्मॉलकैप सूचकांक 27.66 अंक या 0.22 फीसदी की बढ़ोतरी के साथ 12,487.12 पर बंद हुआ।

SENSEX

भारतीय शेयर बाजारों पर अमेरिकी फेड रिजर्व द्वारा ब्याज दरों में बढ़ोतरी की आशंका हावी रही, क्योंकि अमेरिका अगर अपने यहां ब्याज दरों में बढ़ोतरी करता है तो निवेशक भारत जैसी उभरती अर्थव्यवस्थाओं से पैसा निकाल कर अमेरिकी बाजार में लगाने लगेंगे। फेडरल रिजर्व की अध्यक्ष जेनेट येलेन शुक्रवार को कंसास सिटी में फेड की सालाना मौद्रिक नीति संगोष्ठी में अगली बढ़ोतरी की समय सीमा के बारे में कुछ संकेत दे सकती हैं, जिस पर दुनिया भर के निवेशकों की नजर है।

भारतीय बाजार में सोमवार को सप्ताह के पहले कारोबारी दिन शेयर बाजार नीचे गिरकर बंद हुए। इसी दिन सरकार ने भारतीय रिजर्व बैंक के अगले गवर्नर के रूप में उर्जित पटेल की नियुक्ति की जानकारी दी, जो रघुराम राजन की जगह लेंगे। पटेल मुद्रास्फीति से प्रभावी तरीके से निपटने के लिए जाने जाते हैं। इस दिन सेंसेक्स 91.46 अंक या 0.33 फीसदी गिरकर 27,985.54 पर बंद हुआ।

मंगलवार को जब बाजार खुले तो थोड़ी रिकवरी देखी गई, लेकिन बाजार बंद होने तक सेंसेक्स सपाट बंद हुआ। इस दिन सेंसेक्स 4.67 अंक या 0.02 फीसदी की मामूली बढ़ोतरी के साथ 27,990.21 पर बंद हुआ। बुधवार को प्रमुख सूचकांकों में मामूली बढ़ोतरी देखी गई और सेंसेक्स 69.73 अंक या 0.25 फीसदी बढ़कर 28,059.94 पर बंद हुआ।

गुरुवार को दूरसंचार, सूचना प्रौद्योगिकी और धातु क्षेत्र के शेयरों में भारी गिरावट देखी गई और सेंसेक्स 224.03 अंक या 0.8 फीसदी गिरकर 27,835.91 पर बंद हुआ। शुक्रवार को भी प्रमुख सूचकांकों में हल्की गिरावट देखी गई और सेंसेक्स 53.66 अंक या 0.19 फीसदी गिरकर 27,782.25 पर बंद हुआ, जबकि निफ्टी 19.65 अंक या 0.23 फीसदी के गिरावट के साथ 8,572.55 पर बंद हुआ।

पिछले सप्ताह सेंसेक्स के 30 प्रमुख शेयरों में से 22 में गिरावट देखी गई। आईटी क्षेत्र की प्रमुख कंपनी विप्रो के शेयर में सबसे ज्यादा गिरावट आई और यह 5.89 फीसदी गिरकर 489.95 पर बंद हुआ। इंफोसिस के शेयर में 0.03 फीसदी गिरावट आई और यह 1020.75 पर बंद हुआ। टीसीएस के शेयर में 2.87 फीसदी की गिरावट आई और यह 2,529.15 पर बंद हुआ। कुल मिलाकर, बीएसई के आईटी सूचकांक में 146.17 अंक या 1.39 फीसदी की गिरावट आई और पिछले हफ्ते यह 10,390.48 पर बंद हुआ।

सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी ओएनजीसी के शेयरों में वैश्विक स्तर पर कच्चे तेल के दाम में गिरावट के कारण मंदी देखी गई और यह 1.45 फीसदी गिरकर 238.45 पर बंद हुआ। रिलायंस के शेयर 1.45 फीसदी गिरकर 238.45 पर बंद हुए। एनटीपीसी के शेयर 5.25 फीसदी गिरकर 158 पर बंद हुए। वहीं, सेंसेक्स के बढ़ोतरी वाले शेयरों में गेल के शेयर 4.26 फीसदी तेजी के साथ 379.20 पर बंद हुए। एचडीएफसी बैंक के शेयर 1.04 फीसदी बढ़कर 1,257.90 पर बंद हुए।