मंत्री प्रसाद नैथानी से इतर हो रहे हैं पीडीएफ के दूसरे नेता

देहरादून। देवभूमि उत्तराखंड में कांग्रेस और पीडीएफ में भले ही पीडीएफ के संयोजक मंत्री प्रसाद नैथानी सब कुछ सामान्य कहें पर । अब नेताओं की रार खुलकर सामने आ रही है। विधान सभा चुनाव का आगाज भी ढंग से नहीं हुआ है उसके पहले ही पीडीएफ और कांग्रेस की तकरार सामने आने लगी है। टिकट को लेकर लगातार इनके नेता एक दूसरे पर निशाना साध रहे हैं।

mantri-prasad-naithani

सरकार में पीडीएप कोटे से मंत्री बने दिनेश धनै और प्रीतम सिंह पंवार ने कांग्रेस के चिन्ह पर चुनाव लड़ने के बजाय निर्दलयी चुनावी ताल ठोंकने की बात कर अपनी ही पार्टी के संयोजक और सरकार में कैबिनेट मंत्री बने मंत्री प्रसाद नैथानी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।

लेकिन मंत्री प्रसाद नैथानी ने इस मामले पर बचाव करते हुए सारे कांड का ठीकरा कांग्रेस के सिर पर फोड़ दिया है। उनका कहना है कि ये सब कुछ केवल किशोर उपाध्याय की लगातार बयानबाजी की वजह से हो रहा है। हमारी पार्टी और कांग्रेस का गठबंधन इस बात पर हुआ था कि हमारे साथियों को उनके विधान सभा क्षेत्र से कांग्रेस टिकट देगी या फिर उनके खिलाफ प्रत्याशी नहीं उतारेगी । अब रही बात निर्दलीय चुनाव लड़ने की तो ये किसी की व्यक्तिगत राय हो सकती है। हम सभी लोग जल्द ही इस मसले पर बैठक कर हल निकाल लेंगे।