देवभूमि में परिवर्तन यात्रा की तैयारियों को अंतिम रूप देने में जुटे भाजपाई

देहरादून। सूबे में राजनीतिक गरमाहट ने अब दस्तक दे दी है। पहाड़ भी राजनीतिक गरमाहट के चलते गरम हो रहे हैं। सूबे में हर राजनैतिक दल अपनी सियासी गणित साधने में लगा है। ऐसे मे भाजपा ने अब अपना सियासी दांव चलते हुए । प्रदेश में सत्ता की सीढ़ी पर चढ़ने की रणनीति बना ली है। जिसके तहत वह सूबे में परिवर्तन यात्रा का आगाज करने जा रही है।

bjp-flag

 

देवभूमि में भाजपा की परिवर्तन यात्रा का आगाज़ पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की अगुवाई में हौगा। इसमें शाह की 3 रैलियां के साथ 70 विधानसभा क्षेत्रों में जनसभाएं भी होंगी। इस कार्यक्रम में केन्द्रीय मंत्रियों के अलावा प्रदेश के बड़े नेता भी भाग लेंगे। इस बावत लगातार पार्टी के बड़े नेता सूबे में दौरा कर रहे हैं। भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व प्रदेश प्रभारी श्याम जाजू ने इसी को लेकर सूबे में चल रही तैयारियों का जायजा लिया और दिशा निर्देश जारी किए।

इसी कार्यक्रम की रूपरेखा और कार्यकर्ताओं की जिम्मेदारी तय करने के लिए पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने प्रदेश के पदाधिकारियों को लेकर यात्रा के लिे एक समिति की घोषणा की है। इस समिति में
बलराज पासी को यात्रा का संयोजक बनाया गया है। इसके साथ ही दानसिंह रावत व विनोद चमोली सह संयोजक बने हैं।गढ़वाल मंडल में महेंद्र भट्ट संयोजक होंगे और स्वराज विद्वान सह संयोजक होंगी। कुमाऊं में रविंद्र बजाज सह संयोजक की जिम्मेदारी संभालेगे।

इसके साथ ही यात्रा के समन्वयक के तौर पर लोकसभा वार लोगों को जिम्मेदारी सौंपी गई है। पौड़ी में विनोद कंडारी व चंडी प्रसाद भट्ट, टिहरी में खजानदास व कुलदीप कुमार, हरिद्वार में मयंक गुप्ता व सुनील उनियाल, नैनीताल में गजराज सिंह बिष्ट व उत्तम दत्ता, अल्मोड़ा में राजू भंडारी व शेर सिंह गडिया को यात्रा का समन्वयक बनाया गया है। इस समिति में पूर्व मुख्यमंत्री निशंक, सांसद महारानी राज्यलक्ष्मी शाह, त्रिवेंद्र सिंह रावत, धन सिंह रावत, मदन कौशिक, हरबंस कपूर, गणेश जोशी, उमेश शर्मा, विनोद चमोली और उमेश अग्रवाल को भी शामिल किया गया है। इसके साथ ही यात्रा के आवासीय व्यवस्था भोजन और वाहन के लिए अलग-अलग समितियां बनाई गई हैं।