कांग्रेस-पीडीएफ में ठनी, हरीश रावत सरकार पर छाए संकट के बादल

देहरादून। उत्तराखंड सरकार पर संकट के बादल फिर से मंडराते दिखाई दे रहें हैं क्योंकि उत्तराखंड सरकार को समर्थन देने वाले पीडीएफ विधायकों ने शुक्रवार को कांग्रेस प्रभारी अंबिका सोनी से मुलाकात कर अपने ऊपर लगातार हो रही बयानबाजी के चलते प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष किशोर उपाध्याय को पद से हटाने की मांग की। साथ ही कहा कि अगर ऐसा नहीं हुआ तो वो सरकार से समर्थन वापस ले सकतें हैं।

congress-pdf-face-to-face-harish-govt-again-in-trouble

हालांकि इस पूरे मामले पर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत ने किशोर उपाध्याय को इस तरह की बयानबाजी से बचने की हिदायत देते हुए कहा कि पीडीएफ हमारा अभिन्न है। कांग्रेस के मुश्किल दौर में उन्होंने हमारा साथ दिया था। इसलिए संगठन को इस तरह के किसी भी बयान से बचना चाहिए। साथ ही पीडीएफ विधायकों से अपील करते हुए कहा कि वो इस तरह के बयानों पर प्रतिक्रिया देने से बचें।

बता दें कि कुछ दिनों से प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष किशोर उपाध्याय लगातार पीडीएफ पर तीखी बयानबाजी कर रहे थे जिसके बाद पीडीएफ विधायकों ने अंबिका सोनी से मुलाकात कर उनकी शिकायत की। किशोर ने पहले बयान दिया था कि कुछ लोग सरकार में रहकर सरकार और जनता का नुकसान कर रहें हैं। साथ ही कहा कि पीडीएफ वाले अपनी हद में रहे जिसके बाद ये मामला काफी बढ़ गया।