पर्यटन को बढ़ावा दे सीएम रावत रोजगार के अवसरों को बढ़ाना चाहते हैं

नई टिहरी। हरीश रावत सरकार अपने अन्तिम कार्योकाल के बचे दिनों में प्रदेश की जनता को विकास से जोड़ने के कार्यक्रम और योजनाएं दिखाकर अपने पाले में खीचने के प्रयास में लगी है। इसी क्रम में उसने धनौल्टी विधानसभा क्षेत्र के कद्दूखाल-सुरकंडा मंदिर तक करीब 13 करोड़ की लागत से बनने वाले पथ का शिलान्यास किया। इस मौके पर सीएम रावत ने कहा कि इस मार्ग के बनने से पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा और लोगों को रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे।

cm-rawat

इसके साथ ही सीएम रावत ने कहा कि जल्द ही प्रदेश के कई पर्वतीय इलाकों में सड़को मार्गों के साथ रोपवे का निर्माण किया जायेगा। जिससे वहां के दुर्गम स्थानों तक आवागमन सुलभ हो और लोगों को रोजगार के अवसर सुलभता के साथ प्राप्त हो सकें। राज्य सरकार ऐसी कई योजनाो को शीघ्रता के साथ लागू करने के प्रयास में लगी हुई है। सरकार लोगों को पर्यटन के क्षेत्र में रोजगार के अवसरों को तोलाशने पर भी जोर दे रही है। इसके लिए राज्य में 1200 से अधिक होम स्टे सेंटर का पंजीकरण किया जा चुका है। जल्द ही और बड़े पैमाने पर इनका पंजीकरण किया जायेगा।

सरकार राज्य में आपदा के बाद लगातार चौपट हुए पर्यटन के व्यवसाय को बहाल करने पर जोर दे रही है। इसकी के चलते आपदा के बाद पुन: राज्य में पर्यटन पटरी पर लौट रहा है, इस साल बी राज्य में पर्यटकों की आमद में वृद्धि दर्ज की गई है। अब सरकार इस आमद के जरिए राज्य में लोगों को रोजगार के प्रतिजोड़ने की कवायद में जुटी है।