उत्तराखंड के आगामी चुनाव में बगैर मुख्यमंत्री चेहरे के जाएगी भाजपा

देहरादून। उत्तराखंड में आगामी चुनावों के पहले राजनीति सरगर्मी काफी बढ़ गई है। एक ओर जहां सभी राजनीतिक पार्टियां अपने -अपने उम्मीदवार को तय करने में लगी है तो वही भारतीय जनता पार्टी ने चुनाव से पहले अंतिम प्रदेश कार्यसमिति की बैठक की। इस बैठक में भाजपा ने चुनावी कार्यक्रमों और भावी रणनीति जैसे कई मुद्दों पर बातचीत की। लेकिन बतौर मुख्य्मंत्री किसे चुनाव में उतारा जाएगा फिलहाल इस पर अभी तक फैसला नहीं लिया गया है।

bjp

खबर के अनुसार पार्टी में बड़े कद के अधिक नेताओं के होने के चलते पार्टी किस म्मीदवार को चुनावी मैदान में उतारे इस पर फैसला नहीं ले पा रही है जिसके चलते ऐसे कयास लगाए जा रहें हैं कि भाजपा हमेशा की तरह किसी को भी बतौर मुख्यमंत्री प्रोजेक्ट नहीं करते हुए चुनावी मैदान में जा सकती है। बता दें कि उत्तराखंड में चुनाव होने के लिए महज तीन-चार महीने ही बचे हैं। जिसके चलते सत्ता में वापसी के लिए भारतीय जनता पार्टी अपनी पूरी कोशिश कर रही है। इसलिए हो सकता है कि भाजपा असम और बिहार की तरह किसी को भी बतौर मुख्यमंत्री प्रोजक्ट न करके सीधे जनता की अदालत में जाए।