बागियों को मिली भाजपा की परिवर्तन यात्रा में तवज्जो

देहरादून। भाजपा अब परिवर्तन रैली के जरिए कांग्रेस के सामने उसके बागी विधायकों को खड़ा करने में लगी हुई है। पार्टी में शामिल हुए बागी विधायकों को परिवर्तन यात्रा के कार्यक्रम में पूरी तरह से तवज्जो दी जा रही है। कांग्रेस को घेरने के लिए भाजपा हर एक दांव पैंतरा इस्तेमाल करने में लगी हुई है। हांलाकि पार्टी में कई तरह की अफवाहों का बाजार गरम है कि बागियों और संगठन में गतिरोध चल रहा है। लेकिन कार्यक्रम में इन बागियों की आमद ने इस बात पर विराम लगा दिया है।

bjp-uttarakhand

देहरादून की रैली में मंच पर पूर्वमुख्यमंत्री विजय बहुगुणा और हरक सिंह रावत जहां पहली पंक्ति में जगह पाये वहीं मंच पर कांग्रेस के बागी उमेश शर्मा काऊ को भी जगह मिली तो दूसरे मंच पर सुबोध उनियाल व शैलारानी रावत आदि भी बैठे मिले। हालांकि कार्यक्रम में पूर्व विधायक कुंवर प्रणव चैंपियन,डॉ. शैलेंद्र मोहन सिंघल, अमृता रावत और रेखा आर्य की गैर मौजूदगी लोगों के बीच चर्चा का विषय जरूर बनी रहीं। लेकिन बागियों को परिवर्तन रैली में राष्ट्रीय अध्यक्ष की मौजूदगी में स्थान मिलने से उन सारे कयासों पर विराम लग गया जिनके आधार पर यह कहा जा रहा था कि इन बागियों और संगठन में कोई रार चल रही है।

वैसे इस बारे में भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता मुन्नासिंह चौहान ने साफ कर दिया है कि अन्यनेताओं को अपने अपने इलाकों में जिम्मेदारी दे दी गई है। सभी अलग-अलग कार्यक्रमों में मौजूद रहेंगे। पार्टी के भीरत कोई गतिरोध विरोध नहीं है। कांग्रेस की ओर से इस तरह की बातें फैलाकर जनता को गुमराह करने का काम किया जा रहा है। लेकिन इस चुनाव में जनता का जनादेश कांग्रेस को जबाब देगा।