केन्द्रीय मंत्री संजीव बालियान ने जिले के विकास कार्यों की प्रगति का लिया जायजा

मेरठ। कलक्ट्रेट स्थित बचत भवन केन्द्रीय मंत्री संजीव बालियान शुक्रवार को जिला विकास समन्वय और निगरानी समिति की बैठक की अध्यक्षता की। बैठक में केन्द्रीय मंत्री ने शिरकत करते हुए, सरकारी योजनाओं के प्रभावी क्रियान्वयन के लिये जनप्रतिनिधियों के सुझाव व सलाह लेने, योजनाओं का लाभ पात्रों तक पहुंचाने के विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिये।

 

केन्द्रीय मंत्री संजीव बालियान ने बैठक में जानकारी देते हुए बताया कि विश्व बैंक द्वारा जल संचय व प्रबंधन के लिये भारत को 06 हजार करोड़ रूपये की धनराशि स्वीकृत की गयी है जिसमें पश्चिमी उत्तर प्रदेश को भी शामिल किया गया है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि फसली बीमा योजना से गन्ने को हटाने के प्रयास जल्द ही किये जायेंगे। इस दौरान उन्होने 102 व 108 एम्बूलेंस को औचक निरीक्षण करने तथा बेसिक शिक्षा में बच्चों को निशुल्क पाठय पुस्तकें समय से वितरित कराने के लिये भी अधिकारियों को आदेशित किया।

union-minister-sanjeev-balyan

उन्होंने अधिषासी अभियंता जल निगम को आदेशित करते हुए कहा कि जिन जिन स्थानों पर जल निगम द्वारा कार्य किया गया हैं व सड़क व मार्ग को तोडा गया है वह उन स्थानों पर तत्काल मरम्मत आदि का कार्य पूर्ण कराये।

बैठक में डीएम बी.चन्द्रकला ने जनपद की प्रगति आख्या प्रस्तुत की। उन्होने बताया की डिजीटल इण्डिया योजनान्तर्गत जनपद की सभी 482 ग्राम पंचायतों में एक एक जन सेवा केन्द्र की स्थापना की जानी है जिसके अन्तर्गत अक्टूबर तक 302 केन्द्रो की स्थापना की जा चुकी है व 48 जनसेवा केन्द्र शहरी क्षेत्र में स्थापित है।

बैठक में भाजपा सासद राजेन्द्र अग्रवाल ने कहा कि मात्र प्रपोजल भेजने से स्मार्ट सिटी का चयन नहीं हो पायेगा उसके लिये शहर को स्मार्ट बनाने हेतु कार्य करें, तभी शहर का चयन स्मार्ट सिटी के लिये हो पायेगा। इस अवसर पर कैंट विधायक सत्यप्रकाष अग्रवाल, मेरठ दक्षिण विधायक रविन्द्र भड़ाना,जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती सीमा प्रधान, महापौर हरिकान्त अहलूवालिया, सीएमओ डा0 विरेन्द्र पाल सिंह, एडीएम प्रषासन दिनेष चन्द्र सहित सभी जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।

rahul-gaupta(राहुल गुप्ता, संवाददाता)