मोदी सरकार की अयोध्या योजना पर संत बिफरे

इलाहाबाद। सपा के अयोध्या में थीम पार्क बनाने की घोषणा के बाद प्रदेश की राजनीति में राम और अयोध्या खासा ही गरम हो गई है। एक तरफ भाजपा राम और अयोध्या को लेकर सपा पर हमलावर है लगातार बार-बार कह रही है कि केन्द्र की योजना में रोड़े अटकाने के लिए सपा ने थीम पार्क बनाने की योजना रची है।

modi_raam_mandir

जिसके बाद मोदी सरकार के केन्द्रीय पर्यटन मंत्री महेश शर्मा ने अयोध्या दौरा करके रामनगरी के लिए कई सारी सौगात दे डाली । यहां तक ये भी कह डाला अब राम के काम की शुरूआत हो गई है। लेकिन इन सब के बाद मोदी सरकार पर अखाड़ा परिषद ने इवन सभी योजनाओं को चुनावी नौटंकी करार देते हुए सवालिया निशान लगा दिया है। साथ ही साफ तौर पर कहा है कि राम के नाम के सहारे बीजेपी यूपी में एक बार फिर से वोट लेने की फिराक में जुट गई है।

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी ने कहा है कि अगर बीजेपी या मोदी सरकार की नीयत साफ होती तो उसे करोड़ों लोगों की भावनाओं का सम्मान करते हुए भव्य राम मंदिर के निर्माण का रास्ता साफ करना चाहिए था। लेकिन मंदिर के बजाय म्यूजियम का शिगूफा छोड़कर बीजेपी इसका सियासी फायदा लेना चाहती है। हालांकि उन्होंने साफ किया कि साधू-संतों से लेकर आम जनता बीजेपी और मोदी सरकार की इस सियासी नौटंकी को समझ रही है। इसलिए इस बार के यूपी चुनाव में कोई भी उसके बहकावे में नहीं आएगा।