सपा की सियासी जंग पर मुलायम का फॉर्मूला

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के पारिवारिक सियासी ड्रामे के एपिसोड दर एपिसोड की कड़ी में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष, सांसद, मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के पिता एवं प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव के बड़े भाई मुलायम सिंह यादव ने आज ढाई बजे पार्टी के लखनऊ स्थित प्रदेश कार्यालय में पत्रकार वार्ता आयोजित कर कहा कि मेरे राजनीतिक जीवन में जिन्होने मुझे हमेशा प्रेरणा दी, गांधी जी, लोहिया और सबसे ऊपर जनता रही, मैंने हमेशा जनता के कल्याण के लिए काम किया।जनता से मुझे हमेशा काम करने की प्रेरणा मिली, लोगों की पीड़ा और दुःख दूर करने के लिया मैं हमेशा काम करता रहा और मेरा जीवन इसी में लगा।हमारी पार्टी और परिवार में सब एक हैं। बाहर के कुछ षड्यंत्रकारी जिनका कोई जनाधार नहीं है, वो ही साजिश कर रहे हैं।

sp-mi

अमर पर बोले मुलायम
अमर सिंह को लेकर सवाल पर उन्होंने कहा कि उन पर सवाल क्यों पूछते हो, अमर के नाम पर सवाल क्यों, उनका प्रदेश सरकार और पार्टी के उत्तर प्रदेश मामले में कोई मतलब नहीं है। उनको इस प्रकरण में घसीटना गलत और बेमतलब है।

बर्खास्त मंत्रियों की वापसी पर रखा अपना रूख                                                                                                                                                                                                                                                                                      मुलायम ने कहा कि बर्खास्त मंत्रियों की वापसी की बात मैं मुख्यमंत्री पर छोड़ता हूं। मुख्यमंत्री इस समय जो बात आप पूछ रहे हैं उसे सुन रहे हैं, इसलिए मैं मंत्रियों की वापसी का मसला मुख्यमंत्री अखिलेश पर छोड़ता हूं।

रामगोपाल पर नाराजगी कायम
राम गोपाल से मुलायम ने अभी भी नाराज होना प्रदर्शित किया, कहा की कुछ लोग जिनकी जनता में कोई जमीन या आधार नहीं है, उनको मैं कोई अहमियत नहीं देता। राम गोपाल की बात को मैं अब कोई तवज्जो नहीं देता, उसका मेरे लिए अब कोई महत्त्व नहीं है।

खुद के बागडोर लेने पर किया मजाक
क्या बचे हुए समय के लिए आप मुख्यमंत्री बनेंगे ? इस सवाल पर मुलायम सिंह यादव ने कहा कि अब दो-तीन महीने के लिए क्या मुख्यमंत्री बनूंगा। जनवरी से आचार संघिता लग जायेगी, तब मुख्यमंत्री केवल तनख्वाह बांटते रहेंगे।

अखिलेश को लेकर किया नजरिया साफ
मैं जनता के लिए काम करता रहा हमेशा, जनता मेरे साथ है मैं जनता के साथ हूँ। पिछला इलेक्शन मेरे नाम पर लड़ा गया था, फिर प्रक्रिया के तहत अखिलेश को विधायक दल ने मुख्यमंत्री बनाया। हमारी पार्टी लोकतांत्रिक पार्टी है, बहुमत आने पर विधायकों द्वारा नेता चुना जाता है, ऐसे ही अखिलेश भी चुने गए थे, अखिलेश यादव अभी भी मुख्यमंत्री हैं, इस पर किसी को कोई आपत्ति नहीं है। आगे भी लोकतांत्रिक ढंग से चुनाव जीतने पर विधायक दल मुख्यमंत्री का चुनाव करेंगे।

पत्रकार वार्ता में मुलायम के साथ शिवपाल यादव के अलावा ओम प्रकाश सिंह, शादाब फातिमा, अम्बिका चौधरी, आशु मालिक, अशोक बाजपेयी और मंत्री गायत्री प्रजापति भी मौजूद रहे।

Akeel New(अकील सिद्दीकी, संवाददाता)