यूपी के रण में सपा और रालोद का समीकरण

लखनऊ। प्रदेश में जैसे जैसे चुनावी रणभेरी के बजने का वक्त करीब आता जा रहा है। उसी के साथ प्रदेश में राजनीतिक दल लगातार अपने अपने सहयोगियों से गठबंधन की कोशिशें तेज कर चुनावी रण में उतरने से पहले सारे तीर अपने तरकस में सजाने लगे हैं। इसी क्रम में प्रदेश में सत्तारूढ़ समाजवादी दल भी अपने किले को मजबूती प्रदान करने के लिए अपने बीते दिनों के सहयोगी दल राष्ट्रीय लोकदल के साथ अपनी चुनावी गणित बनने की कवायद में लगा है।

shivpal_ajit

इसी गठबंधन को बनने के लिए आज सपा के प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल यादव ने राष्ट्रीय लोकदल के अध्यक्ष चौ अजील सिंह से उनके आवास पर मुलाकात की। इस औपचारिक मुलाकात में आगामी 4 नवम्बर को सपा के रजत जयंती समारोह में शामिल होने का निमंत्रण दिया। माना जा रहा है कि इस समारोह के जरिए सपा अपने पुराने सहयोगियों को साधने की कवायद शुरू कर दी है।

फिलहाल रालोद और सपा का गठबंधन कई बार हुआ है। दोनों की विचार धारा में कई समानताएं भी हैं। रालोद के पास जाट वोटों की गणित पश्चिम में सपा के लिए बेहतर गणित बना सकती है। इसी लिहाज से सपा अब अपने इस पुराने सहयोगी को साथ जोड़ने के फिराक में लगी है।