नरम पड़े शिवपाल के तेवर, बर्खास्त नेताओं की हो सकती है वापसी

लखनऊ। आखिर लम्बे चले परिवारिक ड्रामे के बाद अब समाजवादी कुनबे में सब कुछ काबू में आ गया है। युवाओं के नेता अकेोले अखिलेश ही नहीं बल्कि शिवपाल भी हैं। पार्टी में प्रदेश प्रमुख का ओहदा सम्मान बरकरार रहेगा। इस बात के साफ संकेत मिल रहे हैं। शिवपाल ने इसी का संकेत देने के लिए आज आनन-फानन में युव ब्रिगेड की बैठक पार्टी कार्यालय पर आहुत की।

shivpal-said-mulayam-will-have-to-lead-up

शिवपाल ने बुलाया हो और जब सब कुछ पार्टी के भीतर बाहर सामान्य दिख रहा हो तो फिर तो कार्यालय के बाहर जमकर युवाओं ने शक्ति प्रदर्शन किया। माना जा रहा है ये शिवपाल का शक्ति प्रदर्शन था। इसके साथ ही शिवपाल ने वर्खास्त नेताओं की पार्टी में वापसी को लेकर संकेत साफ किए हैं। कहा है कि उनके प्रार्थना पत्रों पर जल्द ही विचार कर पार्टी अपनी घोषणा करेगी।

अब जब भतीजे को मंच बधाई दी मंच साझा किया। तवही कल तक आंखों में खटकने वाले शिवपाल का भतीजे ने भी मान रखा। यही देश अखिलेश की कही जाने वाली यूथ ब्रिगेड ने शिवपाल के लिए जमकर शक्ति प्रदर्शन कर विरोधियों को ये आभास करा दिया कि पार्टी के बाहर और भीतर सब कुछ ठीक है।