प्रेस कांफ्रेस में झलका रामगोपाल का दर्द, जुबान के साथ आंसुओं से बाहर आया दर्द

लखनऊ। समाजवादी परिवार में सब कुछ शांत हो लेकिन पार्टी से बाहर किए गये कभी पार्टी में थिंक टैंक के तौर पर जाने वाले रामगोपाल यादव का दर्द रह रह कर हिलोरे मार रहा है। पार्टी से आरोपों के जरिए बाहर किए गये रामगोपाल का दर्द आज प्रेस कांफ्रेंस में आंसुओं के जरिए निकल गया। जब आंसु बहे तो जुबान से दर्द भी बाहर आया और फिर जमकर शिवपाल पर भड़ास निकाली।

ramgopal-yadav

इससे पहले रामगोपाल ने पार्टी से बाहर विधान परिषद सदस्यों और दिगग्जों के साथ सैफई में रविवार को बैठक की थी, जिसके बाद आज प्रेस के जरिए वो अपना दर्द बंया करने आये थे। दर्द बंया करते करते रामगोपाल का दर्द जुबान के साथ आसुंओं के रास्ते भी बाहर आ झलका। रामगोपाल ने शिवपाल पर एक बाहर फिर गम्भीर आरोप लगाये हैं। उन्होंने कहा है कि शिवपाल टिकटों के बंटवारे में धंधली कर रहे है, लगातार अखिलेश की अंदेखी की जा रही है।

बताया जा रहा है कि बीते रविवार को रामगोपाल ने पार्टी से बाहर किए गये नेताओं से लम्बी मंत्रणा की जिसमें चुनान के पहले निष्कासित नेताओं के लिए रणनीति तैयार करने व पार्टी पर दबाव बनाकर निष्कासित नेताओं कीवापसी के साथ टिकटों के बंटवारे में अखिलेश यादल के दखल को बढ़ाने के लिए दबाब बनाने की बात की जा रही है।