शहीद पुलिसकर्मियों के माता-पिता को भी मिलेगी सहायता राशि : अखिलेश

लखनऊ| उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने शुक्रवार को राजधानी लखनऊ के पुलिस लाइन ग्राउंड में आयोजित पुलिस स्मृति दिवस परेड में पुलिस के जवानों को गॉॅर्ड ऑफ ऑनर दिया और पुलिस के 116 शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी। अखिलेश यादव ने इस बात की घोषणा की है कि यूपी में शहीद होने वाले पुलिसकर्मियों के माता पिता को भी अब पांच लाख रुपये सहायता राशि दी जाएगी।

akhilesh

मुख्यमंत्री लखनऊ पुलिस लाइन में शहीदों को श्रद्धांजलि देने के बाद पत्रकारों से बात कर रहे थे। ऐसा पहली बार हुआ जब किसी मुख्यमंत्री ने इस मौके पर मौजूद पुलिस कर्मियों को संबोधित नहीं किया।मुख्यमंत्री द्वारा इस मौके पर पुलिस कर्मियों को संबोधित करने और उनके लिए कल्याणकारी घोषणाएं करने की परंपरा रही है। उप्र में अभी शहीदों के परिवारजनों को 20 लाख रुपये मिलते हैं। कई बार ऐसी शिकायतें मिलती थीं कि पत्नी को रकम मिलती है, लेकिन बुजुर्ग मां-बाप बेसहारा रह जाते हैं। कई परिवारों में इस धन राशि को लेकर झगड़े की शिकायतें सामने आती हैं।

भावुक हुए सीएम- आज पुलिस शहीद दिवस पर शहीद के परिवारो को सम्मानित करने पहुंचे मुख्यमंत्री अखिलेश यादव भावुक हो गए। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने लखीमपुर खीरी में तैनात रहे शहीद सिपाही विक्रम प्रताप की पत्‍‌नी तनु उर्फ अर्चना और चार अन्य शहीद पुलिसकर्मियों की पत्नियों को 25-25 हजार रुपये व शाल भेंट कर सम्मानित किया। मुख्यमंत्री द्वारा सम्मानित करते समय पांचों शहीद पुलिस कर्मियों की पत्नियों सुबुक पड़ीं। उनका दुख देख वहां खड़ी महिला पुलिसकर्मियों की पलकें भी नम हो गई।

मुख्यमंत्री द्वारा सम्मानित किए जाने के समय शहीद सिपाही विक्रम प्रताप सिंह की तनु पति का जिक्र आते ही टूट गई। फिर खुद को संभालते हुए उन्होने अपनी इच्छा जाहीर करते हुए कि वह ससुराल में पति की मूर्ति लगवाने के साथ ही उनके नाम से एक रोड बनवाना चाहती हूं। तनु के मुताबिक उसके ससुराल वाले उसका सहारा नहीं बने और उसे मायके भेज दिया गया।खलीक अहमद की पत्‍‌नी शकीला को पुलिस स्मृति समारोह में मुख्यमंत्री ने सम्मानित किया।शकीला के तीन बेटियां व एक बेटा है। एक बेटी की शादी हो चुकी है। वह कहती हैं कि सरकार उनकी बेटियों की शादी के लिए मदद की।
   Akeel New  (अकील सिद्दीकी, संवाददाता)