इंदिरा के आपातकाल से बदतर है मोदी की नोटबंदी- सतीश आजवानी

गोण्डा।प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी के नोटबंदी के विरूद्ध कांग्रेस द्वारा पुरे भारत में अक्रोश दिवस मनाया गया। गोण्डा में भी कांग्रेसियों ने विरोध प्रदर्शन किया। हालाकि विपक्षियों द्वारा भारत बंद गोण्डा में भी पूरी तरह असफल रहा। शहर सहित जिले के सभी कस्बो बाजारों में व्यापरियों ने सुबह से ही पूरे जोश के साथ अपनी दुकानें व प्रतिष्ठान खोलकर जहाँ विपक्ष की इस अपील की हवा निकल दी, वहीँ पीएम नरेंद्र मोदी के नोटबंदी के फैसले का मूक समर्थन भी किया।

gonda

आक्रोश दिवस पर आयोजित जनसभा में कांग्रेस के प्रदेश महामंत्री पूर्व विधायक व् पार्टी के जिला प्रभारी सतीश आजवानी ने पीएम नरेंद्र मोदी के  नोट के फैसले को पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के इमेरजेंसी से तुलना की और कहा कि इन्हीं के मजबूर करने से इंद्रा जी ने इमेरजेंसी लागू की थी। इससे नाराज जनता ने उन्हें जिस तरह नकार दिया था, ठीक उसी तरह भारत की जनता नरेंद्र मोदी व भाजपा को नकार कर समाप्त कर देंगी। आजवानी ने मोदी की तुलना हिटलर से भी की और कहा कि हिटलर की तरह मोदी का भी अंत होगा और भाजपा खत्म हो जायेगी।

आजवानी ने  मोदी के चुनावी वादों को गिनाते हुये कहा कि जब वो कोई वादे पूरे न कर सके, सरकार उनकी फेल होने लगी तो उन्होंने नोटबंदी का फैसला ले लिया। एक प्रश्न के जबाब में आजवानी बोले की निश्चित ही भाजपा वालो ने नोटबंदी से पहले अपने कालेधन को ठिकानें लगा लिया। आज कोई भी बीजेपी वाला इतना नहीं परेशान है जितना की आम जनता परेशान हैं। पीएम के नोटबंदी के फैसले को कांग्रेस नेता सतीश आजवानी ने धोखा बताया और कहा कि हमें परेशानी उनके धोखा देने से हैं।

नोटबंदी के चलते 90 लोगों की मौत व् 9 बैंक मैनजरों के मरने के कारण आक्रोश दिवस मनाने की बात कहते हुये आजवानी बोले कि मृतकों के परिवार को  केंद्र सरकार 50-50 लाख रुपये मुआवजा दे, इसीलिए आज हम ये कर रहें हैं। जनसभा में आये लोगों से ज्यादा गाड़ियां आने पर कालेधन के प्रयोग का प्रश्न करने पर पूर्व विधायक आजवानी इधर उधर की बात करते हुए बोले कि गाडियों से पार्टी के वर्कर आये है। आजवानी ने मोदी की तुलना हिटलर, मुसोलोनी व गद्दाफी से करते हुए कहा कि जब भी चुनाव होगा ये समाप्त हो जाएंगे, इनका कोई नाम लेने वाला नहीं होगा।

rp_gonda(विशाल सिंह,संवाददाता)