मैत्री कार यात्रा को अखिलेश ने दिखाई हरी झंड़ी

लखनऊ। सूबे के मुखिया अखिलेश यादव ने आज अपने आवास से मैत्री कार रैली को झंड़ी दिखाकर रवाना किया। दिल्ली से निकली बैंकॉक तक जा रही इस मैत्री कार यात्रा में तीन देशों के तकरीबन 63 प्रतिभाग कर रहे हैं। ये कार यात्रा भारत म्यांमार और थाइलैंड तीन देशों की फ्रेंडशिप कार रैली के तौर पर  दिल्ली से बैंकॉक के बीच आयोजित की गई है।

akhilesh-yadav

इसमें तीन देशों के 63 प्रतिभागियों के साथ 22 कारों से 5722 किलोमीटर की दूरी इस पूरी यात्रा के दौरान तय करेंगे। यह कार यात्रा 2 दिसम्बर को बैंकॉक में समाप्त होगी। कार यात्रा के प्रतिभागियों को सम्बोधित करते हुए सीएम अखिलेश यादव ने कहा कि यह यात्रा दक्षिण पूर्व एशिया के तीन देशों को जोडने की ये एक सार्थक पहल है। इस यात्रा से तीनों देशों को एक मार्ग पर जोड़ने की सार्थक पहल है। इस यात्रा के जरिये देशों में आपसी सम्बन्ध प्रगाढ होंगे। इससे व्यापार, पर्यटन के क्षेत्र में बढ़ावा मिलेगा। इससे लोगों में खानपान रहन-सहन का आदान-प्रदान होगा। इस यात्रा के लिए उन्होने सभी प्रतिभागियों को बधाई दी है।

यात्रा की शुरूआत के पहले अखिलेश ने नोट बंदी को लेकर पहले बसपा सुप्रीमों मायावती पर तंज कसते हुए कहा कि बुआ जी को हजार के नोटों की माला पहनने का बड़ा शौक है लेकिन हमारे प्रधानमत्री जी ने हजार और 5 सौ के नोट बंद कर बुआजी के शौक पर अंकुल लगा दिया है। नोट बंदी से आम जनता परेशान है हम इस बात को लेकर बेहद संजीदा हैं। हम गांवों में मोबाइल कैश वैन भेजने की व्यवस्था में लगे हुए हैं।