बंगला खाली कराने आए पटना प्रशासन को तेजस्वी यादव ने भेजा खाली हाथ

बंगला खाली कराने आए पटना प्रशासन को तेजस्वी यादव ने भेजा खाली हाथ

पटना। तेजस्वी यादव के बंगले पर विवाद और गहरा गया है। तेजस्वी के बंगले 5, देशरत्न मार्ग पर आज सुबह पटना प्रशासन पहुंचा। लेकिन तेजस्वी ने दो टूक कहा कि जब तक यह पूरा मामला हाईकोर्ट में चल रहा है, तब तक वे बंगला खाली नहीं करेंगे। गौरतलब है कि तेजस्वी हाईकोर्ट के सिंगल बेंच के फैसले को चुनौती देते हुए डबल बेंच में अर्जी लगा है। डेढ़ साल पहले आरजेडी के हाथों से सत्ता जाने के बाद बिहार सरकार के भवन निर्माण विभाग ने तेजस्वी यादव को उप मुख्यमंत्री के तौर पर आवंटित बंगला खाली करने को कहा था। सरकार ने तेजस्वी को नेता प्रतिपक्ष के रूप में 1, पोलो रोड का बंगला आवंटित किया।

 

बता दें कि जिसमें फिलहाल उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी रहते हैं। भवन निर्माण विभाग ने तेजस्वी का बंगला, सुशील मोदी को उपमुख्यमंत्री के तौर पर आवंटित कर दिया, लेकिन पिछले डेढ़ साल से तेजस्वी यादव ने अपना बंगला खाली नहीं किया है और इसे बचाने के लिए पटना हाई कोर्ट तक चले गए।

हालांकि, न्यायालय में बिहार सरकार की जीत हुई और तेजस्वी यादव को अपना बंगला तुरंत खाली करने का फरमान कोर्ट ने सुना दिया। पटना उच्च न्यायालय के द्वारा भी तेजस्वी यादव को बंगला खाली करने का फरमान जारी किए हुए तकरीबन 2 महीने का वक्त बीत चुका है। लेकिन अब तक उन्होंने इसे खाली नहीं किया है। तेजस्वी ने सिंगल बेंच के फैसले को चुनौती देते हुए डबल बेंच में अपील की है।