सिंधु, श्रीकांत करेंगे डेनमार्क ओपन में भारत का नेतृत्व

ओडेंसे (डेनमार्क)। ओलम्पिक उप-विजेता भारत की अग्रणी महिला बैडमिंटन खिलाड़ी पी. वी. सिंधु और ओलम्पिक में शानदार प्रदर्शन करने वाले देश के शीर्ष पुरुष खिलाड़ी किदांबी श्रीकांत मंगलवार से शुरू हो रहे योनेक्स डेनमार्क ओपन में भारत का नेतृत्व करेंगे। देश की शीर्ष वरीय महिला खिलाड़ी सायना नेहवाल घुटने के ऑपरेशन से अब तक उबर नहीं पाई हैं और वह डेनमार्क ओपन में हिस्सा नहीं ले रही हैं, वहीं सिंधु टूर्नामेंट में भारत की एकमात्र वरीय खिलाड़ी होंगी। आठवीं विश्व वरीयता प्राप्त सिंधु को टूर्नामेंट में छठी वरीयता दी गई है। टूर्नामेंट के महिला एकल वर्ग में वह भारत की एकमात्र प्रतिनिधि भी होंगी।

12
रियो ओलम्पिक के बाद यह पहला ऐसा टूर्नामेंट है जिसमें दुनिया की शीर्ष खिलाड़ी हिस्सा लेंगी। विश्व रैंकिंग में शीर्ष-10 में शामिल आठ खिलाड़ी डेनमार्क ओपन में खेलती नजर आएंगी। सायना के अलावा दूसरी विश्व वरीयता प्राप्त चीन की ली ज्यूरुई भी टूर्नामेंट में हिस्सा नहीं ले रही हैं। सिंधु बुधवार को 11वीं विश्व वरीयता प्राप्त चीन की हे बिंगजियाओ के खिलाफ अपने अभियान का आगाज करेंगी, जबकि रियो ओलम्पिक के फाइनल में उनकी प्रतिद्वंद्वी सर्वोच्च विश्व वरीयता प्राप्त स्पेन की कैरोलीना मारिन को पहले राउंड में बाई मिला है।

सिंधु इस समय शानदार फॉर्म में चल रही हैं, लेकिन टूर्नामेंट के पहले दौर की उनकी प्रतिद्वंद्वी बिंगजियाओ के खिलाफ उनकी जीत-हार का आंकड़ा अच्छा नहीं रहा है। सिंधु ने अब तक चार बार बिंगजियाओ का सामना किया है, जिसमें उन्हें सिर्फ एक बार जीत हासिल हुई है। पुरुष एकल वर्ग में श्रीकांत भारत की ओर से खिताब के प्रबल दावेदार होंगे। हालांकि श्रीकांत के अलावा 20वीं विश्व वरीयता प्राप्त अजय जयराम, एच. एस. प्रनॉय और बी. साई प्रणीत भी दावेदारी पेश करेंगे।

रियो ओलम्पिक से बाहर रहे राष्ट्रमंडल चैम्पियन पारुपल्ली कश्यप को हालांकि क्वालिफिकेशन दौर से गुजरना होगा। पुरुष युगल वर्ग में मनु अत्री-बी. सुमीत रेड्डी और प्रणव जेरी चोपड़ा-अक्षय देवालकर की जोड़ियां हिस्सा लेंगी। वहीं मिश्रित युगल वर्ग में प्रणव और एन. सिक्की रेड्डी की जोड़ी भारत का प्रतिनिधित्व करेगी। महिला युगल वर्ग में भारत की ओर से कोई प्रतिनिधि नहीं है।