आईएसएल : आज भिड़ेंगी कोलकाता और चेन्नयन एफसी टीमें

कोलकाता| एटलेटिको डी कोलकाता के कोच जोस मोलिना ने इस सलाह को नकार दिया है कि उनकी टीम रविवार को रवींद्र सरोवर स्टेडियम में मौजूदा चैम्पियन चेन्नयन एफसी के साथ होने वाले हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के अपने पहले मैच में पिछला हिसाब बराबर करने के इरादे से उतरेगी। कोलकाता ने बीते सीजन के सेमीफाइनल में चेन्नयन एफसी के हाथों हार झेली और पहले सीजन में जीता गया खिताब गंवाया था। एक साल बाद दोनों टीमें एक बार फिर आमने-सामने हैं और कोलकाता के नए कोच मोलिना बीते साल में क्या हुआ, इसे लेकर नए सीजन की शुरुआत नहीं करना चाहते।

isl-kolkatta

मोलिना ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, “मेरी नजर में फुटबाल में हिसाब बराबर करने या फिर बदला लेने का कोई मतलब नहीं होता। वे पहले सीजन में जीते थे और हम कुछ नहीं कर सके थे। अगर हम कल चेन्नयन एफसी के खिलाफ जीतते हैं तो अंतिम सीजन का फाइनल नहीं खेल सकते। यह सब खत्म हो चुका है। यह बदला लेने का मैच नहीं है। यह नया सीजन है। मोलिना इंडियन सुपर लीग के लिए नए हैं और उन्होंने एक अन्य स्पेनिश कोच एंटोनियो लोपेज हाबास का स्थान लिया है। हाबास के लिए बीते दो सीजन सफल रहे हैं। मोलिन हालांकि आईएसएल में अपने पदार्पण की ओर देख रहे हैं लेकिन उन्हें इस बात को लेकर कोई शंका नहीं कि चेन्नयन एफसी के साथ होना वाला मुकाबला काफी कठिन होगा।

मोलिना ने कहा, “निश्चित तौर पर यह आईएसएल में मेरा पहला मैच है और मैं इसे लेकर काफी खुश हूं। हमने प्री-सीजन में स्पेन में काफी अच्छा वक्त बिताया और अब बीते 10 दिनों से कोलकाता में हैं। मेरी नजर में हम मुकाबले के लिए तैयार हैं। मुझे अपने खिलाड़ियों और अपनी टीम पर भरोसा है। चैम्पियन टीम के खिलाफ शुरुआत हमेशा कठिन होती है। यह टीम काफी मजबूत है और यह एक कठिन मैच होगा लेकिन मैं आपको पहले ही यह बता देना चाहता हूं कि मुझे अपनी टीम पर पूरा भरोसा है।”

कोलकाता ने बीते सीजन के अपने अधिकांश खिलाड़ियों को रिटेन किया है। जहां तक घरेलू खिलाड़ियों की बात है तो इनमें कई नए चेहरे हैं लेकिन इन सबने अपने कोच को प्रभावित किया है। कोच ने कहा, “जाहिर तौर पर मैं भारतीय खिलाड़ियों से खुश हूं। ये खिलाड़ी सीखने और सुधार करने की कोशिश कर रहे हैं। कई बार भाषाई दिक्कतें आती हैं, लेकिन मैंने उनसे कहा है कि वे किसी प्रकार की दिक्कत होने पर मुझसे बेझिझक पूछ सकते हैं। कुछ भारतीय खिलाड़ी हमारे साथ प्री-सीजन टूर पर हमारे साथ स्पेन नहीं जा सके थे लेकिन कोलकाता में 10 दिन बिताने के बाद इन खिलाड़ियों ने काफी अच्छा काम किया है।”

मौजूदा चैम्पियन चेन्नयन एफसी अपने करिश्माई स्ट्राइकर स्टीवन मेंदोजा के बगैर खिताब की रक्षा का प्रयास शुरू करेगा। बीते सीजन में मेंदोजा को गोल्डन बूट मिला था। बीते दो सीजन में उसके लिए अच्छा काम करने वाले ब्राजीली स्ट्राइकर ब्रूनो पेलीसारी भी उसके साथ नहीं हैं लेकिन कोच मार्को मातेराजी ने इस साल नाइजीरिया के स्ट्राइकर डुडु ओमागेमी को अपने साथ जोड़कर इन दो खिलाड़ियों की भरपाई करने की कोशिश की है।

चेन्नयन एफसी को भारतीय स्ट्राइकर जेजे लालपेखलुवा पर भी काफी भरोसा है क्योंकि वह बीते 18 महीनों से भारतीय फुटबाल टीम के साथ शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं। जेजे ने इस दौरान अंतर्राष्ट्रीय और घरेलू स्तर पर बेहतरीन प्रदर्शन किया है।