आईएसएल : कोलकाता को हरा पुणे ने कायम रखी उम्मीदें

पुणे। एफसी पुणे सिटी ने रविवार को अपने घरेलू मैदान बालेवाड़ी स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स पर हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के तीसरे सीजन की पहली जीत दर्ज की। पुणे ने रोमांचक मुकाबले में पहले सीजन के चैम्पियन एटलेटिको डी कोलकाता को 2-1 से हराया और मौजूदा सीजन में अपनी उम्मीदों को जिंदा रखा है। आईएसएल के शुरुआती दो सीजन में कोलकाता के कोच रहे एंटोनियो हबास की देखरेख में खेल रही पुणे की टीम ने उम्मीद से कहीं बेहतर प्रदर्शन कर इस मैच से पूरे तीन अंक बटोरे और आठ टीमों की तालिका में सबसे निचले पायदान से दो स्थान की छलांग लगाते हुए छठे स्थान पर पहुंच गई।

isl

वहीं कोलकाता मैच जीतकर शीर्ष पर पहुंचने का मौका गंवा बैठा। कोलकाता 12 अंकों के साथ तीसरे स्थान पर काबिज है। यह पुणे की इस सीजन की दूसरी जीत है जबकि कोलकाता को सीजन में दूसरी हार मिली है। कोलकाता का साथ छोड़कर इस साल पुणे से जुड़े हबास पहली बार अपने पूर्व टीम के सामने थे। उनके लिए काफी कुछ दांव पर था। हबास ने कोलकाता को 2014 में चैम्पियन बनाने के अलावा 2015 में सेमीफाइनल तक पहुंचाया था।

पुणे ने शुरुआत से ही आक्रामक खेल दिखाया। ऐसा नहीं है कि कोलकाता की टीम अपने पूर्व कोच की टीम के सामने दबकर खेली लेकिन उसे सफलता नहीं मिली जबकि हबास की टीम ने 41वें और फिर 56वें मिनट में गोल करते हुए 2-0 की बढ़त हासिल कर ली। पुणे के लिए पहला गोल एडुआडरे फरेरा ने जोनाथन लुका के पास पर किया जबकि दूसरा गोल अनिबाल जुडरे रोड्रिगेज ने 56वें मिनट में पेनाल्टी पर किया। पुणे को अर्णब कुमार मोंडल की गलती के कारण यह पेनाल्टी मिला, जिसे अनिबाल ने बेकार नहीं जाने दिया।

इसके बाद कोलकाता ने अपन दमखम दिखाया और जोरदार वापसी करते हुए 69वें मिनट में अपना खाता खोला। मेहमान टीम के लिए यह गोल उसके कनाडियाई खिलाड़ी इयान हुमे ने किया। पहले सीजन में कोलकाता के साथ और दूसरे सीजन में चेन्नयन एफसी के साथ आईएसएल का खिताब जीत चुके हबास के चहेते गोलकीपर एडेल बेटे ने हुमे द्वारा लिए गए पेनाल्टी को रोक दिया लेकिन गेंद जब रीबाउंड होकर हुमे के पास पहुंची तो वह बेटे को छकाने में सफल रहे।