आईएसएल : दिल्ली और चेन्नई का भिड़ेंगे आज

चेन्नई। हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के तीसरे सीजन के तहत गुरुवार को मौजूदा चैंपियन चेन्नइयन एफसी का सामना दिल्ली डायनामोज के साथ होगा। यह मैच यहां के जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम में खेला जाएगा। यह चेन्नई का दूसरा और दिल्ली का पहला मैच है। चेन्नई को कोलकाता में हुए अपने पहले मैच में एटलेटिको डी कोलकाता के खिलाफ ड्रॉ खेलना पड़ा था जबकि दिल्ली आज अपने अभियान की शुरुआत करेगी।

isl-delhi-and-chennai-will-fight-today

इन दो टीमों के कोच इटली के दो दिग्गज फुटबाल खिलाड़ी हैं, मार्को मातेराजी चेन्नई के कोच हैं जबकि गीयान लुका जाम्बरोता दिल्ली के कोच हैं।मातेराजी और जाम्बरोता ने 2006 में इटली टीम के साथ विश्व कप खिताब जीता था। मातेराजी जहां पिछले दो साल से भारत में चेन्नइयन के कोच के तौर पर सेवा दे रहे हैं, वहीं जाम्बरोता पहली बार आईएसएल में दिल्ली के कोच के तौर पर नजर आएंगे।

मातेराजी ने मुकाबले से पहले हुए संवाददाता सम्मेलन में कहा, मैं एक खिलाड़ी के तौर पर उन्हें जानता हूं पर एक कोच के तौर पर नहीं। उन्हें यहां भारत में देखकर मैं काफी खुश हूं और उनके लिए एक कोच के तौर पर आगे बढ़ने का यह अच्छा अवसर है। मैं उनके लिए बेहतरी की कामना करता हूं। चेन्नइयन का एटलेटिको डी कोलकाता के साथ हुआ पहला मुकाबला 2-2 से ड्रॉ रहा, जिससे दोनों टीमों को एक-एक अंक मिला।

मातेराजी ने कहा, मुझे लगता है कि हमें दबाव और जुनून के बीच अंतर रखना चाहिए। हम पर जीतने का कोई दबाव या चैम्पियन बनने का कोई जुनून नहीं है, क्योंकि हमने पिछले साल इस टूनार्मेंट में जीत हासिल की थी।चेन्नइयन के मुख्य कोच मातेराजी ने कहा, हमारे लिए अपने खिताब को बचाना एक सौभाग्य की बात होगी और हम आखिरी मैच तक इसका प्रयास करेंगे। मैं खिलाड़ियों पर इसके लिए कोई दबाव नहीं डाल रहा हूं।

आईएसएल की शुरूआत से ही चेन्नइयन के लिए पेनाल्टी मुसीबत रहा है और मातेराजी का कहना है कि यह उनकी टीम के लिए सीखने की एक प्रक्रिया है, विशेषकर युवा खिलाड़ियों के लिए।चेन्नइयन टीम के कोच की तरह ही दिल्ली की टीम भी अपनी मजबूत रक्षापंक्ति पर निर्भर रहेगी। हालांकि, उन्हें अपने दो महत्वपूर्ण खिलाड़ियों जॉन आर्ने रिसे और हैंज मुल्डर की कमी खलेगी, जो अब चेन्नइयन की टीम से खेल रहे हैं।

दिल्ली के कोच जाम्बरोता ने कहा, मैं पूर्व-सत्र से काफी खुश हूं, जो बहुत अच्छा रहा। हमें गुरुवार से अपने अभियान की शुरूआत करनी है और इस खेल से ही हमारी टीम के प्रदर्शन के बारे में पता चलेगा। आशा है कि हमारा खेल अच्छा हो।

जाम्बरोता ने कहा, मेरे लिए यह जरूरी है कि टीम एकजुट होकर रहे, चाहे प्रतिद्वंद्वी टीम पर हमला करना हो या रक्षात्मक रणनीति अपनाने की हो। हमारे लिए जीतने की मानसिकता रखना जरूरी है। हम यहां कुछ जीतने के लिए आए हैं।