आईसीसी ने प्लेसिस के फैसले पर निराशा की जाहिर

दुबई। अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने दक्षिण अफ्रीका क्रिकेट टीम के कप्तान फाफ दू प्लेसिस के उस फैसले पर निराशा जाहिर की है, जिसमें उन्होंने गेंद के साथ छेड़छाड़ का दोषी पाए जाने के बाद आईसीसी के फैसले को चुनौती देने के लिए अपील की है। आईसीसी ने शुक्रवार को एक बयान जारी कर प्लेसिस के इस फैसले पर निराशा जाहिर की और कहा कि मामले की जल्द से जल्द सुनवाई के लिए एक ज्यूडिशियल कमिश्नर की नियुक्ति की जा रही है। प्लेसिस ने अपने बयान में कहा था कि उन्होंने कोई गलत काम नहीं किया है।

faf-du-plessis

प्लेसिस को होबार्ट में आस्ट्रेलिया के साथ हुए दूसरे टेस्ट मैच के चौथे दिन गेंद पर कृत्रिम थूक लगाते देखा गया था। आईसीसी ने टेलीविजन फुटेज के आधार पर प्लेसिस को दोषी पाया था लेकिन उन्हें एडिलेड में जारी तीसरे टेस्ट मैच में खेलने की इजाजत दे दी गई।

आईसीसी ने कहा है कि वह सुनवाई पूरी होने तक इस मामले में और कोई बयान जारी नहीं करेगा लेकिन आईसीसी ने कहा है कि वह इस स्थिति में नियमों को साफ कर देना चाहता है। नियम यह है कि कोई भी खिलाड़ी कृत्रिम पदार्थ लगाकर गेंद को चमका नहीं सकता।

आईसीसी ने कहा है कि प्राकृतिक थूक के अलावा कोई अन्य चीज को गेंद को चमकाने के लिए उपयोग में नहीं लाया जाना चाहिए। क्रिकेट के नियमों में सनस्क्रीन, लिप आइस और मीठे पदार्थो से पैदा हुई थूक को इस्तेमाल में नहीं लाया जा सकता।