आईएसएल : चेन्नई का केरल से आज होगा आमना-सामना

चेन्नई। मौजूदा चैम्पियन चेन्नयन एफसी अपने घरेलू मैदान पर शनिवार को हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के तीसरे संस्करण के तहत केरला ब्लास्टर्स से भिड़ेगा। दोनों टीमों के बीच इससे पहले कई मौकों पर जोरदार भिड़ंत हुई है और उम्मीद है कि एक बार फिर दर्शकों को दक्षिण की इन दो टीमों के बीच कांटे की टक्कर देखने को मिलेगी। केरल के कोच स्टीव कोपेल पहली बार आईएसएल में कोचिंग कर रहे हैं, लेकिन इसके बाद उन्हें इन दो टीमों के बीच की प्रतिद्वंद्विता का अंदाजा हो गया है। कोपेल को इस बात की खुशी होगी कि आईएसएल के पहले सीजन में उनकी टीम ने सेमीफाइनल में चेन्नई को पटखनी दी थी।

कोपेल ने मैच की पूर्व संध्या पर कहा, “मुझे इन दो टीमों के बीच के इतिहास के बारे में बताया गया है। इतिहास की कहानी अलग है, लेकिन हमारे लिए तो यह अगले मैच की तरह ही है। यह टीम अलग है। खिलाड़ी अलग हैं। साल अलग है और मौका अलग है। पहले जो कुछ दांव पर था वह अलग था। आज जो दांव पर है, वह अलग है। हम जानते हैं कि यह टीम अच्छी है और जीत हासिल करने के लिए हमें अच्छा खेल दिखाना होगा।”

isl

केरल ने अपने अंतिम मैच में पिछड़ रहे होने के बाद भी एफसी गोवा को उसी के घर में हराया था। पहले ही हाफ में केरल के खिलाफ गोल हो गया था, लेकिन उसने जोरदार वापसी करते हुए मैच 2-1 से जीता। उसके खाते में छह मैचों से आठ अंक हैं। आठ टीमों की तालिका में यह टीम पांचवें स्थान पर है। कोपेल ने स्वीकार किया कि इस जीत ने उनकी टीम की साख बढ़ाई है और वह इस सिलसिले को जारी रखना चाहते हैं। बकौल कोपेल, “यहां के सभी मुकाबले कांटे के होते हैं और यहां की हर जीत अहम है। हम आधा रास्ता तय कर चुके हैं, लेकिन अब तक यह साफ नहीं हो सका है कि कौन सी टीम शीर्ष पर रहेगी। गोवा के खिलाफ हमारी जीत मनोवैज्ञानिक तौर पर काफी अहम है।”

दूसरी ओर, बीते मैच में चेन्नई के भाग्य ने उसका साथ नहीं दिया था। उसे एफसी पुणे सिटी के खिलाफ शुरुआती बढ़त के बाद भी अंक बांटने पड़े थे। यह मैच जीतकर चेन्नई की टीम तालिका में पहले स्थान पर पहुंच सकती थी लेकिन किस्मत ने उसका साथ नहीं दिया। अब चेन्नई की टीम अपने घर में खेल रही है। उसे दो मैच अपने घर मे खेलने हैं। कोच मार्को मातेराजी ने कहा है कि इन दो मैचों में उनकी टीम को हर हाल में जीत हासिल करनी होगी। मातेराजी ने कहा, “घर में होने वाले दो मुकाबले हमारे लिए अहम हैं। इस लीग में एक मैच जीतना भी कठिन है और लगातार दो मैच जीतना तो और भी कठिन है। हम जानते हैं कि हमारा सामना एक बेहतरीन टीम से होगा। अगर हम पुणे के खिलाफ जीत गए होते तो हम आज टॉप पर होते लेकिन यह हो नहीं सका। अब हमें अपनी मानसिकता बदलते हुए आक्रामक होकर केरल का सामना करना होगा। इस लीग में आप कभी भी ठहर नहीं सकते।”