सचिन पायलट : जल स्वावलम्बन योजना का वास्तविकता से कोई लेना-देना नहीं है।

राजस्थान। राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सचिन पायलट ने मंगलवार को नागौर के डेगाना में आयोजित किसान सम्मेलन में कहा कि इस बात से ही मुख्यमंत्री के जल स्वावलम्बन योजना की सच्चाई का पता चलता है कि इसकी बैठक में ज्यादातर मंत्री, विधायक अनुपस्थित थे। पायलट ने कहा कि इस योजना काजमींनी सच कुछ और ही है। प्रदेश सरकार जल स्वावलम्बन के नाम पर लोगों से चंदा वसूली कर उन्हें ठग रही है।

sachin

पायलट ने किसानें के सम्बोधित करते हुे कहा कि राज्य में भाजपा के सत्ता में आने के बाद गरीब किसानों को पहले प्राकृतिक आपदाओं का सामना करना पड़ा और अब इस जल के संकट का खतरा। उन्होंने कहा कि सरकार को लोगों के हित में फैसले लेने चाहिए, किसानों के द्वारा खेती के लिए लिए गए ऋण को माफ करना चाहिए व बीज आदि की पूरी व्यवस्थआ पर अपनी नजर रखनी चाहिए जिससे प्रदेश में फसल उत्पादन पर बुरा असर न पड़े। प्रदेश कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष ने कहा कि सरकार राज्य में सरकार जनता के हितों को अनदेखा कर रही है। गरीब किसान उपज की लागत तक नहीं बसूल कर पा रहे हैं।

पायलट ने कहा कि केंद्र सरकार के नोटबंदी के फैसले ने सबसे ज्यादा ग्रमीण लोगों के जीवन पर प्रभाव डाला है। गरीब किसानों के पास बीज, खाद आदि तक खरीदने तक के पैसे तक नहीं हैं। सरकार को इस फैसले को लेने के पहले नागरिकों के बारे मे भी सोचना चाहिए था।