आईजीएनपी पर पंजाब के खिलाफ रामेश्वर डूडी ने दी तीखी प्रतिक्रिया

राजस्थान। पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल पर वार करते हुए राजसथान विधानसभा के नेता रामेंश्वर डूडी ने कहा कि वे इंदिरा गांधी परियोजना के लिए पूरी तरह से लड़ने के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा कि इस परियोजना के द्वारा आठ जिलों के लोगों को पानी की आपूर्ति की जाती है जिनमें पीने के पानी और किसानों को सिंचाई के लिए भी जल की व्यवसथा होती है। जोधपुर, चुरू, बीकानेर, श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़ के लोगों के लिएपानी का यही एकमात्र स्त्रोत है। डूडूी ने आगे कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल का राजस्थान को पानी की एक बूंद न देने की बात कहना काफी निंदनीय है।

doodi

डूडी ने आईजीएनपी के मुद्दे पर पंजाब सरकार के ऊपर सीधा-सीधा निशाना साधते हुए कहा कि पंजाब हमेशा से अपनी कही बांतों से पीछे हटता रहा है।अंतरराज्यीय जल समझौते के तहत जो फैसला हुआ था पंजाब कभी भी उसका सही तरीके से पालन नहीं किया। इस समझौते के तहत राजसथान को जो पानी आवंटित हुआ था पंजाब की तरफ से कभी उसका पूरा हिस्सा राजसथान को नहीं दिया गया। जिससे राज्य में नहरों पर अत्यधिक प्रभाव पड़ा है और जिसका सीधा नतीजा फसलों पर देखने को मिल रहा है।

नेता जी ने कहा कि राजस्थान की सरकार इस मामले में शांति रखी है। यहां तक कि  पंजाब विधानसभा में विशेष सत्र बुलाकर राजस्थान केआवंटित होनो वाले इस पानी के बदले 80 हजार करोड़ रूपए की राॅयल्टी की मांग भी की गई। जिसके बाद भी प्रदेश की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने किसी प्रकार का विरोध नहीं किया। उन्होंने कहा कि यह मामला राजस्थान की जनता के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है और अंतरराज्यीय जल समझौते का अनुपालन न करने पर राज्य सरकार इसके खिलाफ पूरी तरह से अपने हक के लिए लड़ेगी। चाहे इसके लिए कितना ही आगे तक क्यों न जाना पड़े।