स्वायत्त शासन मंत्री ने भूमिगत मेट्रो के निर्माण में तेजी लाने के निर्देश दिए

स्वायत्त शासन मंत्री ने भूमिगत मेट्रो के निर्माण में तेजी लाने के निर्देश दिए

राजस्थान के नगरीय आवासन और स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल ने मंगलवार 1 जनवरी, 2018 को अपरान्ह् 4 बजे से चांदपोल से बड़ी चौपड़ तक निर्माणाधीन भूमिगत मेट्रो कॉरीडोर का निरीक्षण किया। इस अवसर पर क्षेत्रीय विधायक अमीन कागजी, अतिरिक्त मुख्य सचिव नगरीय आवासन एवं स्वायत्त शासन विभाग पी.के. गोयल,निदेशक परिचालन एवं प्रणाली जयपुर मेट्रो रेल कॉरपोरेशन लि. मुकेश कुमार सिंघल तथा नगरीय शासन विभाग डी.एम.आर.सी. के सीनियर अधिकारी मौजूद  थे।

इसे भी पढ़ें-राजस्थानःचिकित्सा मंत्री ने कहा, स्वस्थ राज्य बनाने की दिशा में प्रयास करेंगे

चांदपोल स्टेशन से प्रारम्भ हुये निरीक्षण अभियान के प्रारम्भ में अतिरिक्त मुख्य सचिव पी.के. गोयल ने नगरीय आवासन एवं स्वायत्त शासन मंत्री धारीवाल को पुष्प गुच्छ भेंट कर उनका स्वागत किया। धारीवाल ने अधिकारियों के साथ चांदपोल से बड़ी चौपड़ तक भूमीगत कोरीडोर का पैदल चल कर निरीक्षण किया एवं परियोजना की प्रगति के बारे में मेट्रो अधिकारियों से जानकारी ली।

नगरीय आवासन एवं स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल ने बताया कि भूमिगत मेट्रो परियोजना का शिलान्यास तत्कालीन प्रधानमंत्री डाॅ. मनमोहन सिंह ने सितम्बर, 2013 में किया था। लगभग 02 वर्ष पश्चात 2015 में भूमिगत मेट्रो कार्य शुरू करवाया गया। उन्होनें मेट्रो के धीमी गति निर्माण पर नाराजगी व्यक्त की एवं अधिकारियों को निर्देश दिये कि मेट्रो कार्यो में तेजी लायी जाये जिससे आमजन को इस परियोजना का शीघ्र लाभ प्राप्त हो सके।

नगरीय आवासन एवं स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल ने कहा कि अगस्त, 2019 तक भूमिगत मेट्रो का कार्य पूर्ण होने लक्ष्य निर्धारित है। उन्होनें कहा कि वे स्वयं परियोजना की निरन्तर मॉनेटरिंग करेंगे। जिससे कार्य समय पर पूरा हो सके। उन्होनें बताया कि अम्बाबाड़ी से सीतापुरा मेट्रो निर्माण के दूसरे चरण का निर्माण पी.पी.पी. मॉडल पर होगा या सरकारी मॉडल पर यह फैसला केबिनेट बैठक में किया जायेगा।

इसे भी पढ़ेंःपेट्रोल डीजल के रेट हुए कम, आया 78 रुपये के नीचे

 जयपुर मेट्रो रेल कॉरपोरेशन लि. के निदेशक मुकेश कुमार सिंघल ने बताया कि अब तक ट्रनल बोरिंग का कार्य बड़ी चौपड़ तक पूर्ण किया जा चुका है। दो तरफा ट्रेक में से एक में छोटी चौपड़ से चांदपोल और दूसरी और छोटी चौपड़ से बड़ी चौपड़ तक ट्रेक एवं चांदपोल से छोटी चौपड़ तक ओवर हेड विद्युत लाईन डाली जा चुकी है। उन्होनें बताया कि मई, 2019 में मेट्रो का ट्रायल होगा तत्पश्चात सिग्नल टेली कम्यूनिकेशन का ट्रायल कर अगस्त, 2019 तक मेट्रो प्रारम्भ होने की सम्भावना है।