देश भर में मनाया जा रहा है गुरुपर्व, गुरुद्वारों में उमड़ी भीड़

चंडीगढ़। पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश और चंडीगढ़ में सोमवार को गुरुपर्व के मौके पर हजारों की संख्या में श्रद्धालुओं की भीड़ गुरुद्वारों में उमड़ पड़ी। अमृतसर स्थित हरमंदर साहिब गुरुद्वारे को स्वर्ण मंदिर के नाम से जाना जाता है और यह सिख धर्म के सबसे पवित्र धर्मस्थलों में से एक है। विभिन्न धर्मो के हजारों लोग भी सोमवार सुबह स्वर्ण मंदिर पहुंचे और मत्था टेका।

punjab

गुरुद्वारा परिसर को रोशनी से सराबोर किया गया। स्वर्ण मंदिर और क्षेत्र के अन्य गुरुद्वारों में ‘गुरुवाणी’ सुनाई दे रही है। पंजाब में सभी गुरुद्वारों की पुख्ता सुरक्षा व्यवस्था की गई है। शहरों और गांवों के अन्य गुरुद्वारों में बड़ी संख्या में लोग मत्था टेकने आ रहे हैं। अधिकतर गुरुद्वारों में लंगर की भी व्यवस्था की गई है। राज्य में 2,000 से अधिक श्रद्धालु (अधिकतर सिख) नानकाना साहिब में गुरुपर्व मनाने के लिए पाकिस्तान गए हैं।

लाहौर से 100 किलोमीटर दूर नानकाना साहिब सिखों के पहले गुरु-गुरु नानक देव का जन्मस्थल है। उनका यहां 1469 में जन्म हुआ था।पाकिस्तान दूतावास ने श्रद्धालुओं के यहां जाने के लिए लगभग 3,000 वीजा जारी किए हैं। पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने गुरुपर्व के मौके पर लोगों को बधाई दी और उन्हें शांति एवं सौहार्द बनाए रखने के लिए गुरु नानक की शिक्षाओं का अनुसरण करने का आग्रह किया।