नोट बंदी के सहारे अरविंद उतरेंगे पंजाब के चुनावी अभियान पर

चंडीगढ़। दिल्ली में आम आदमी पार्टी का नोट बंदी को लेकर सरकार के खिलाफ अभियान फ्लाप शो रहा। लेकिन अब अरविंद केजरी वाल अपने इस अभियान को पूरे देश में बड़े पैमाने पर छेड़ कर सरकार के खिलाफ एक नई मुहिम छेड़ने की फिराक में हैं। इसके लिए वे पूरे देश में 90 रैलियों के जरिए जनता के बीच नोट बंदी के खिलाफ जायेंगे।

arvind-kejriwal

लेकिन अब पंजाब चुनाव में सरकार के इस फैसले के खिलाफ जनता को अरविंद केजरीवाल अपने खेमे में लाने की कवायद कर रहे हैं। जिसके लिए उन्होने फुलप्रूफ तैयारी कर ली है। वे अपनी 90 रैलियों में सबसे पहले पंजाब से अपने कार्यक्रम का आगाज कर सरकार पर निशाना साधने के साथ अपना चुनावी बिगुल भी फूंकेंगे। इसके लिए वे वाकायदा 20 नवम्बर से पंजाब के दौरे पर रहेंगे। इस दौरान तकरीबन 20 से ज्यादा जगहों पर वो अपनी रैलियों को सम्बोधित करेंगे।

चुनावी अभियान के साथ नोट बंदी के खिलाफ केन्द्र सरकार और भाजपा को घेरने के लिए सीएम अरविंद केजरीवाल के पंजाब दौरे का कार्यक्रम तैयार हो चुका है। आने वाले 20 नवम्बर को उनके इस अभियान का आगाज हो जायेगा। जिसकी रूपरेखा इस प्रकार है। 20 नवंबर को फिरोजपुर की दाना मंडी जलालाबाद में रैली, 21 को बठिंडा स्पोर्ट्स स्डेडियम और फरीदकोट के दोदा में रैली, 22 फरीदकोट व संगरूर, 23 को संगरूर, धुरी व दिड़बा में रैलियां, 24 को पटियाला व आनंदपुर साहिब, 25 को फतेहगढ़ साहिब व होशियारपुर, 26 को जालंधर के महितपुर और कपूरथला के गुरुगोविंद सिंह स्टेडियम में रैली, 27 को तरनतारन व अटारी में रैली, 28 को बटाला और गुरदासपुर में रैली, 29 को मुकेरियां व पठानकोट में रैली और 30 को गुरदासपुर व अमृतसर में रैली का कार्यक्रम आ चुका है।