नोटों की जंग में कूदे कैप्टन अमरिंदर सिंह

बठिंडा। पुराने 500 और 1000 के नोटों पर लगी पाबंदी के बाद अब सूबे में राजनीति फिर गरमाने लगी है। प्रदेश में कांग्रेस के मुखिया कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मोदी सरकार पर तौहमद लगाते हुए कहा कि सरकार ने नोट बंदी का फैसला देते हुए लोगों का जरा सा भी ध्यान नहीं रखा । मोदी सरकार ने लोगों से उनकी खुशियां छीनने का काम किया है।

captain

प्रदेश में ही नहीं देश में त्यौहारों शादी विवाह का मौसम है ऐसे में इस तरह का तुगलकी फैसला ये साफ जाहिर करता है कि सरकार को जनता की जरूरतों से कोई सरोकार नहीं है। मोदी सरकार के इस फैसले से सरकार गरीब जनता को सबसे अधिक नुकसान हुआ है। इस फैसले ने इस बार गुरूपर्व के त्यौहार की खुशियां छीन ली हैं। लोगों को पैसे की तंगी के चलते भारी दिक्कतों का सामाना करना पड़ रहा है।

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा नेताओं ने तो पहले से ही अपने नोट बदलवा रखे थे। उन्हे इसका कोई असर नहीं पड़ने वाला है। इसके लिए पीएम की घोषणा के पहले कई बार अखबारों में नये नोटों के चलन में शीघ्रता से आने की खबरें आने लगी थीं इससे ये साफ है कि भाजपा नेताओं को काफी वक्त मिल गया था नोट बदलवाने के लिए इसलिए उन्हें कोई दिक्कत नहीं हो रही है।