गोण्डा के अभ्युदय मिश्रा ने रचा चेन्नई में इतिहास

चेन्नई। प्रतिभा किसी उम्र की मोहताज नहीं होती प्रतिभा की छाप तो अलग ही होती है। इसीलिए कहा जाता है कि होनहार बिरवान के होत चीकने पात। उत्तर प्रदेश के गोण्डा जिले जिसका नाम आते ही शिक्षा के जगह में एक प्रश्न चिन्ह लगता है। लेकिन इसी गोण्डा की माटी के लाल अभ्युदय मिश्रा ने जो इतिहास रच दिया वो काबिले तारीफ है। टाइम्स समूह की ओर से चेन्नई में आयोजित हुए ऑल इंडिया एप्टीट्यूड टेस्ट में अपने उम्र से बड़े बच्चों के बीच जाकर 175219 प्रतिभागियों के बीच 1546 वीं रैंक हासिल कर अपने जिले का नाम रौशन कर दिया।

partha

अभ्युदय मिश्रा गोण्डा जिले के तरबगंज थाना क्षेत्र के संरावा गांव के रहने वाले भारतीय वायु सेना में कार्यरत अधिकारी के पुत्र हैं। जो कि वर्तमान समय में चेन्नई में कार्यरत है। अभ्युदय मिश्रा चेन्नई स्थित केन्द्रीय विद्यालय के छात्र हैं। शिक्षा जगत से अभ्युदय मिश्रा का नाता बड़ा पुराना है। इनकी माता श्रीमति इला मिश्रा ने उत्तर प्रदेश की माध्यमिक शिक्षा परिषद की परीक्षा में अपने जिले में सर्वोच्च अंक हासिल किया था। इसके पहले इनके नाना जी ने माध्यमिक शिक्षा परिषद की परीक्षा में प्रदेश में सर्वोच्च अंक हासिल किया था। अपनी मां और नाना से प्रेरणा लेकर इस बच्चे ने ऑल इंडिया स्तर पर अपने परिवार अपने विद्यालय और अपने जिले व प्रदेश का नाम रोशन किया है।

parth

अभ्युदय मिश्रा की इस उपलब्धि पर उनका पूरा जिला गर्व महसूस कर रहा है। इतनी कम उम्र में इतनी बड़ी सफलता हासिल करना आसान नहीं होता। लेकिन कहते हैं कि अगर हिम्मत हो तो हर काम आसान हो जाता है। अभ्युदय मिश्रा पढाई के साथ-साथ पीएम मोदी के स्वच्छ भारत अभियान से भी काफी प्रेरित है। इसके लिए बाकायदा इन्होंने एक पेज भी बनाया है। जिसका नाम Neat and Clean India  रखा है।

parth-2

अभ्युदय मिश्रा को उनकी इस उपलब्धि पर भारत खबर डॉट कॉम परिवार की ओर से बहुत-बहुत सारी शुभकामनाएं हम देते हैं। जिससे वो भविष्य में देश और समाज के लिए कुछ नया कीर्तिमान स्थापित करें।